इस राज्‍य में कोरोना वायरस के मरीजों की संंख्या हुई सात, जानिये यहां क्‍या हैं हालात - .

Breaking

Friday, 20 March 2020

इस राज्‍य में कोरोना वायरस के मरीजों की संंख्या हुई सात, जानिये यहां क्‍या हैं हालात

इस राज्‍य में कोरोना वायरस के मरीजों की संंख्या हुई सात, जानिये यहां क्‍या हैं हालात

गुजरात में कोरोना वायरस पैर पसार रहा है। पिछले 24 घंटे में यहां इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 7 पर पहुंच गयी है। इनमें दो महिला भी है। इन सभी की आयु 38 वर्ष से कम हैं। ये सभी भारतीय नागरिक हैं, तथा विदेश से आये हैं। ये सातों कोरोना पोजीटिव वड़ोदरा, सूरत, अहमदाबाद और राजकोट के हैं। इन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पतालों में निर्मित आयसोलेशन में रखा गया हैं।
इससे पहले राज्य की स्वास्थ्य सचिव डॉ. जयन्ति रवि ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस की जाँच के लिए कुल 150 सेम्पल लिए हैं इनमें से पाँच सेंपल पोजीटिव, 123 निगेटिव शेष 22 का रिपोर्ट बाकी है। भारत सरकार की गाइड लाइन के अनुसार राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग विविध कदम उठा रहा हैं। पोजीटिव पाये जानेवाले ये सभी सात मामलों में अहमदाबाद से तीन, वड़ोदरा से दो, सूरत से एक तथा राजकोट का एक शामिल हैं। ये सभी विदेश से भारत आये भारतीय नागरिक हैं। इन्हें अस्पतालों के आयसोलेशन वार्ड में रखा गया है, जहाँ सभी की स्थिति स्टेबल हैं। इन्हें 14 दिनों के लिए यहीं आयसोलेशन में ही रखा जायेगा।

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए विविध कदम उठाये जा रहें हैं। राज्य में कोरोना वायरस की दस्तक के मद्देऩजर जिम्नेशियम, वाटरपार्क, पार्टीप्लाट, मैरेज हॉल और क्लब बंद कर दिए गये हैं। राज्य सरकार ने इन्हें 31 मार्च तक बंद किया हैं। राज्य सरकार ने मंदिरों एवं पर्यटन स्थलों को भी बंद करने की घोषणा की हैं।
उन्होंने बताया कि राजकोट का व्यक्ति मक्कामदीना साउदीअरबिया से मुंबई और वहाँ से राजकोट आया था। सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत पर उसे पीडीयू मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। ब्लड सेंपल की रिपोर्ट से ज्ञात हुआ कि वह कोरोना से संक्रमित हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इसके संपर्क वाले 15 व्यक्तियों को भी कोरोन्टाइन किया हैं। वहीं सूरत की 21 वर्षीय युवती मुंबई होकर सूरत आयी। उसने 16 मार्च को सर्दी, बुखार और खांसी की शिकायत की। उसके ब्लड की जांच अहमदाबाद बी.जे. मंडिकल कॉलेज में हुए जहां कोरोना पोजीटिव होने पर उसके संपर्क वाले नौ व्यक्तियों को भी कोरोन्टाइन किया गया। सूरत और राजकोट में कोरोना पोजीटिव केस होने से स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। कुल 40 टीमें कार्यरत कर दी गयी है।

राज्य में कोरोना वायरस की दस्तक के मद्देनजर सरकार ने वडोदरा, सूरत, और राजकोट में भी लेबोरेटरी शुरू करने का निर्णय़ लिया हैं। अहमदाबाद और जामनगर में पहले से ही यह सुविधा उपलब्ध हैं। इससे पूर्व शंकास्पद मरीज के ब्लड की जाँच के लिए सेंपल को पूना भेजना पड़ता था। राज्य में कोरोना वायरस के पोजीटिव मामलों के मद्देनजर मुख्यमंत्री विजय रूपानी की अध्यक्षता में विशेष बैठक आयोजित की गयी। बैठक में राज्य सरकार द्वारा उठाये गये कदमों की समीक्षा के साथ ही आगामी निर्णयों पर विचार विमर्श किया गया।

अहमदाबाद सिविल अस्पताल के किडनी व डेंटल अस्पताल में केवल इमरजैंसी सेवा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सतर्कता के तहत भी कई कदम उठाये गये हैं। अहमदाबाद सिविल हॉस्पीटल परिसर में स्थित डेंटल और किडनी अस्पताल में चिकित्सा सेवाएं बंद कर दी गयी हैं। यहाँ केवल आपातकालीन सेवाएं ही उपलब्ध हैं। कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए यह निर्णय लिया गया हैं।
किडनी इन्स्टीट्यूट के डायरेक्टर डॉ.विनीत मिश्रा ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए एमर्जेंसी के अलावा अन्य केस नहीं लिया जायेगा। किडनी और लीवर ट्रान्स्प्लांट का कार्य भी 28 दिनों के लिए बंद कर दिया गया हैं। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों केे संक्रमण से बचाने के लिए स्क्रीनिंग भी किया जा रहा है। सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण पर उन्हें सिविल अस्पताल हॉस्पीटल में रिफर किया जायेगा। आवश्यकता पड़ने पर अस्पताल में डायलिसिस की सुविधा भी है। यहाँ दूसरी मंजिल पर छह बिस्तरों वाला आयसोलेशन आईसीयू वार्ड बनाया गया हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages