सोने की कीमतों में आई कमी, पिछले 10 दिन में लगातार गिरे दाम - .

Breaking

Saturday, 18 January 2020

सोने की कीमतों में आई कमी, पिछले 10 दिन में लगातार गिरे दाम

Gold Rate : सोने की कीमतों में आई कमी, पिछले 10 दिन में लगातार गिरे दाम, पढ़ें बाजार का हाल
ईरान-अमेरिका के मध्य बढ़ते हुए तनाव के साथ सुरक्षित निवेश लिहाज से सोने-चांदी में आई तेजी हाजर में कमजोर मांग के चलते नहीं टिक पाई है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वायदे के साथ ही हाजर ने भी उस तेजी को नकार दिया है और इस स्तर पर कच्चे और स्टॉक के माल की निकासी ही बढ़ी है।
6 जनवरी को सोने की अंतर्राष्ट्रीय कीमतें अरसे बाद 1600 डॉलर के स्तर पर जाने से भारतीय बाजारों में इसके सर्वकालिक उच्च स्तर बने लेकिन कमजोर मांग के समर्थन ने इसमें फिर से गिरावट की स्थिति बना दी है। 41025 रुपए प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड भाव पर बाजार सिर्फ एक दिन ही टिक पाया और पिछले 10 दिनों में इसके भाव में 1000 रुपए की कमी आ गई। इस स्तर पर हाजर में ग्राहकी की बजाय पुराने माल की बिक्री बढ़ने से खरीदी-बिक्री के भाव में अंत ही देखने को मिला, जिससे बाजार में हाजर माल का भाव वायदे की तुलना में अधिक प्रीमियम पर रहा।
इस दौरान कॉमेक्स का वायदा 1550 डॉलर के पुराने स्तर पर ही वापस आ गया। डॉलर के मुकाबले रुपए में कोई खास बदलाव नहीं होने से फिलहाल बाजार ऊपर है अन्यथा हाजर में और भी अधिक गिरावट की स्थिति बन सकती थी। कारोबारियों के अनुसार हाजर में ग्राहकी का असर तेजी के रहते कमजोर हुआ है और संक्रांति से शुरू हुए लग्नसरा की ग्राहकी पर भी इस तेजी के कारण असर देखने को मिला है।
सोने के साथ ही चांदी में चला तेजी का दौर भी थमता नजर आ रहा है। पिछली फसल के कमजोर रहने से वैसे भी ग्रामीण क्षेत्रों की ग्राहकी अक्टूबर से दिसंबर के पखवाड़े में काफी कम रही है, ऐसे में पिछले दिनों आई तेजी ने बाजार के हालात को और भी बिगाड़ा है। कॉमेक्स में 1861 सेंट तक जाने के बाद फिर से 1800 सेंट के नीचे कारोबार होने से हाजर में भी 1200 रुपए की गिरावट आई है। तेजी पर पिछले दिनों ग्रामीण क्षेत्रों से बढ़ी मात्रा में कच्चे माल की बिकवाली देखी गई। कारोबारियों के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों से चांदी का बिकने आना खराब ग्रामीण अर्थव्यवस्था का संकट है।
बुलियन में भी कमजोर ग्राहकी: सोने-चांदी की नियमित ग्राहकी के साथ ही बुलियन में भी मांग काफी कमजोर बताई जा रही है। कारोबारियों के अनुसार तैयार आभूषण के साथ ही तेजी पर ठोस बुलियन की मांग भी नहीं बढ़ पाई है। इसकी मुख्य वजह भाव का तुलनात्मक रूप से अधिक मजबूत होना और शेयर बाजार में आ रही तेजी के बीच म्युचुअल फंड के मार्फत निवेश का बढ़ना है। इसमें मध्यम वर्ग के साथ ही उच्च और उच्च मध्यम वर्ग का निवेश भी बढ़ना है। चालू वित्त वर्ष की पहली तीनों तिमाही में म्युचुअल फंड के लंबी और माध्यम श्रेणी के निवेश में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इसी के असर से संवेदी सूचकांक 42000 के स्तर तक आ चूका है।
दस दिनों में आया बदलाव
धातु 6 जनवरी 16 जनवरी
इंदौर
सोना 41050 40150
चांदी 48025 46825
कॉमेक्स
सोना 1600 1553
चांदी 1861 1799
इंदौर में सोना रुपए प्रति 10 ग्राम तथा चांदी प्रतिकलो के भाव
कॉमेक्स में सोना डॉलर तथा चांदी सेंट में

No comments:

Post a Comment

Pages