आज और कल MP, राजस्थान समेत इन राज्यों में होगी बारिश, ओलों ने बढ़ाई ठंड - .

Breaking

Friday, 13 December 2019

आज और कल MP, राजस्थान समेत इन राज्यों में होगी बारिश, ओलों ने बढ़ाई ठंड

Weather Alert: आज और कल MP, राजस्थान समेत इन राज्यों में होगी बारिश, ओलों ने बढ़ाई ठंड

पश्चिमी विक्षोभ के कारण गुरुवार को पहाड़ों में भारी बर्फबारी हो रही है और उसी का असर उत्तर भारत समेत देश के मध्य के राज्यों तक नजर आया है। गुरुवार को देश के कईं राज्यों में तेज बारिश और ओलों ने मौसम बदल दिया और ठिठुरन बढ़ा दी है। जहां दिल्ली-एनसीआर के अलावा पंजाब, हरियाणा में बारिश ने पारा गिराकर ठंड बढ़ा दी है वहीं मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीगढ़ के भी कुछ शहरों में बारिश और ओलों ने ठंड बढ़ा दी है। मौसम की भविष्यवाणी करने वाली प्राइवेट एजेंसी स्कायमेट वेदर के अनुसार आज और कल भी मध्यप्रदेश के अलावा पश्चिमी बिहार, झारखंड, दिल्ली-एनसीआर, पंजाब और हरियाणा समेत कईं राज्यों में बारिश और ओले गिरने की संभावना जताई है। वहीं जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।
राजधानी दिल्ली में भी देर शाम कई जगहों पर बारिश हुई और ठंडी हवा भी चली, जिससे सर्दी महसूस हुई। अधिकतम तापमान में बुधवार की तुलना में दो डिग्री सेल्सियस की कमी आई है। मौसम विज्ञानी डॉ. कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि बारिश की वजह जम्मू-कश्मीर में बना पश्चिमी विक्षोभ है। आमतौर पर मौसम की ऐसी गतिविधियों की वजह से न्यूनतम तापमान में 4 से 5 डिग्री का अंतर आता है और गुरुवार के दिन भी ऐसा ही हुआ।

आज भी बारिश की आशंका जताई गई है। ताजा बर्फबारी और बारिश से उत्तराखंड भी कड़ाके की ठंड की चपेट में है। हिमाचल प्रदेश में भी सीजन के पहले हिमपात ने पहाड़ों के साथ मैदानी इलाकों का तापमान गिरा दिया है। जम्मू में भी वैष्णो देवी भवन और मार्ग पर सीजन की पहली बर्फबारी हुई। हवाई सेवाएं भी बाधित हुई है। उत्तराखंड में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही गढ़वाल और कुमाऊं मंडल की पहाड़ियों पर अच्छी बर्फबारी हुई है। कुमाऊं में मानसरोवर यात्रा मार्ग बर्फ से ढक गया है।

हिमाचल में 10 डिग्री गिरा न्यूनतम तापमान :- हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश से शीतलहर तेज हो गई। प्रदेश में अधिकतम व न्यूनतम तापमान में आठ से 10 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आई है। हिल स्टेशन शिमला व मनाली में इस मौसम का पहला हिमपात हुआ। बर्फबारी के कारण मनाली-लेह, औट-बंजार-सैंज और ग्रांफू-समदो राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गए। कुल्लू जिले में मनाली में बर्फबारी होने पर पर्यटक खुशी से झूम उठे। रोहतांग दर्रे में डेढ़ फीट हिमपात हुआ। भूस्खलन से 190 से अधिक सड़कें बंद रहीं। 

श्रीनगर व जम्मू में बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त :- लगातार बर्फबारी की वजह से हिमाचल प्रदेश के अलावा जम्मू कश्मीर में भी जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। मौसम के बिगड़े मिजाज गुरुवार को और तीखे हो गए और राज्य के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी के साथ ही श्रीनगर व जम्मू सहित सभी निचले क्षेत्रों में दिनभर बारिश हुई। जवाहर टनल के पास बर्फबारी होने से जम्मू-श्रीनगर हाईवे को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। धुंध के कारण लगातार सातवें दिन भी श्रीनगर हवाई अड्डे पर सभी उड़ानें रद रहीं। इससे कश्मीर का सड़क व हवाई संपर्क देश-दुनिया से पूरी तरह कट गया है।

मध्यप्रदेश और राजस्थान में गिर ओले :- गुरुवार को जहां उत्तर भारत के राज्यों में बारिश हुई वहीं मध्यप्रदेश और राजस्थान के कईं शहरों में बारिश के साथ ओले गिरे। मध्यप्रदेश में तो बिजली गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, गुरुवार को ग्वालियर-चंबल संभाग के अलावा विदिशा, रायसेन और सीहोर में भी ओले गिरे। जबलपुर में ओलावृष्टि से 6-7 इंच की परत जम गई। राजस्थान में भी बारिश और ओलावृष्टि के चलते सर्दी बढ़ गई। सीकर में बिजली गिरने से दो की मौत हो गई।

किसानों को राहत, गेहूं की फसल के लिए संजीवनी :- इस मौसम में होने वाली यह बारिश आपको भले ही ना भाए लेकिन किसानों के लिहाज से यह अमृत है। कृषि विशेषज्ञों की मानें तो इस समय बरसात गेहूं की फसल के लिए किसी संजीवनी से कम नही है। क्योंकि ठंड के साथ-साथ बरसात गेहूं की फसल में नाइट्रोजन की कमी को पूरा करेगी। इससे कम खाद की जरूरत पड़ेगी। हालांकि, यदि ओलावृष्टि हुई तो ना केवल गेहूं बल्कि सरसों व अन्य सब्जियों की फसलों को नुकसान होगा।

No comments:

Post a comment

Pages