अहमदाबाद की यह शादी बन गई अच्‍छी मिसाल, हो रही है तारीफ, वजह ही कुछ ऐसी है - .

Breaking

Wednesday, 11 December 2019

अहमदाबाद की यह शादी बन गई अच्‍छी मिसाल, हो रही है तारीफ, वजह ही कुछ ऐसी है

Ahmedabad : अहमदाबाद की यह शादी बन गई अच्‍छी मिसाल, हो रही है तारीफ, वजह ही कुछ ऐसी है

आपने आमतौर पर खर्चीली और महंगी शादियों के विलासितापूर्ण गौरवगान की कई खबरें सुनीं या पढ़ी होंगी लेकिन अहमदाबाद में संडे को एक एक शादी हुई, जिसके बारे में जानकार आप वाह कह उठेंगे। यह शादी पूरी तरह सादगी से हुई। सादगी से कई विवाह समारोह होते हैं लेकिन इस आयोजन के बारे में यह खास है कि इसे पहले महंगे बजट में होना तय किया गया था। अचानक कुछ ऐसा हुआ कि यह दिखावे से बदलकर सादगी पर आ गई। अब सभी लोग इस सादगीपूर्ण शादी के समारोह की सराहना कर रहे हैं।
व्‍यापारी समुदाय के लोगों में आमतौर पर समारोहों में खर्च को अपना स्‍टेटस सिंबल माना जाता है लेकिन महानगर के जाने माने उद्यमी कपड़ा व्‍यापारी दीपक कुमार अग्रवाल ने सादगी की एक नजीर पेश करते हुए अपने पुत्र का विवाह एक मंदिर में संपन्‍न कराया। पहले यह विवाह उदयपुर के पैलेस में होना था। दीपक कुमार अग्रवाल अहमदाबाद के मस्‍कती कपड़ा बाजार के प्रमुख व्‍यापारी हैं, उनके पुत्र शुभम्र अग्रवाल की सगाई ध्‍वनि अग्रवाल के साथ की गई थी।

उदयपुर के पैलेस में विवाह कराने की तैयारियां भी परिवार करने लगा था कि अचानक दूल्‍हे के चाचा संजय अग्रवाल ने सुझाव दिया कि यह विवाह अहमदाबाद में सादगी से संपन्‍न कराकर परिवार को फालतू खर्च से बचाने का एक उदाहरण पेश करना चाहिए। दीपक व उनके समधी ने संजय के प्रस्‍ताव को सहर्ष स्‍वीकार कर लिया।
रविवार को अपने बच्‍चों का विवाह पूरी सादगी के साथ अहमदबाद श्री राणी शक्ति सेवा समिति शाहीबाग मंदिर में संपन्‍न कराया। विवाह समारोह में दूल्‍हा व दुल्‍हन के अलावा करीब एक दर्जन लोग शामिल हुए। यह विवाह पूरी सादगी से संपन्‍न हुआ। गौरतलब कि है कि बीते दिनों अग्रवाल समाज ने भी विवाह समारोहों में व्‍यर्थ पैसा खर्च पर रोक लगाने की समाज को नसीहत दी थी।

एक तरफ तो अहमदाबाद की इस सादगी भरी शादी के चर्चे हैं, दूसरी तरफ इसी राज्‍य में बीते सप्‍ताह एक ऐसी शादी हुई जिसने खर्चीली, महंगी, विलासितापूर्ण शादियों की श्रृंखला में अपना नाम जोड़ दिया। इस आलीशान शादी में नोट लहराए गए और हवा में उड़ाए गए। इसका TikTok Video भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। यह शादी मशहूर जडेजा ग्रुप के रुशराजसिंह जडेजा की थी, जिसमें रईसी, शान-औ-शौकत दिखाने के लिए जर्बदस्‍त तरीके से पानी की तरह पैसा बहाया गया।

बारातियों ने उड़ाए एक करोड़ के नोट :- इस शादी को यादगार बनाने के लिए कोई छोटी मोटी रकम नहीं, बल्कि पूरे एक करोड़ रुपए के नोट उड़ाए गए। शादी के दौरान जब बारात निकली तब पूरे रास्‍ते में बारातियों ने इतने नोट उड़ाए कि देखने वालों को आंखों पर विश्‍वास ही नहीं हुआ। वे दंग रह गए। जो नोट उड़ाए गए उनमें 2 हजार और 500 रुपए के नोट शामिल थे।
गांव में पहली बार पहुंची बारात, पहली बार ग्रामीणों ने देखा हैलीकॉप्‍टर :- जामनगर के चेल्‍ला गांव में किसी भी बारात के आने का यह पहला ही मौका था, और यह भी ऐतिहासिक बन गया। इस आलीशान शादी के जलसे में शरीक होने के लिए बाराती हैलीकॉप्‍टर से पहुंचे थे। गांव वालों ने जीवन में पहली बार हैलीकॉप्‍टर देखा। बाद में वे आश्चर्यचकित रह गए जब दूल्हे और उसके परिवार ने 500 और 2000 रुपये के करेंसी नोटों की बौछार कर दी। गांव के सरपंच राजेंद्र भट्टी का कहना है कि उनके अनुमान के अनुसार 35 लाख से अधिक रुपए के नोट तो उन्‍होंने ही लुटते देखे।
दूल्‍हा सहित बाराती हैलीकॉप्‍टर से पहुंचे थे :- रुशराजसिंह महेन्द्रसिंह जडेजा उर्फ जयराजसिंह, दूल्हा, जो जामनगर के पास कुनाद गाँव के रहने वाले हैं, हेलीकॉप्टर से दुल्हन के यहां पहुंचे। विवाह समारोह जामनगर से 20 किलोमीटर दूर चेल्‍ला नामक गांव में था। दूल्‍हे रुशराजसिंह को जयराज के नाम से भी जाना जाता है। वे स्‍वयं एक अलग ब्‍लैक हैलीकॉप्‍टर में सवार होकर बारात में पहुंचे थे। जब बाराती रास्‍तों में नोट उड़ा रहे थे, तब राहगीर इस पूरे दृश्‍य को अचरज भरी निगाहों से देख रहे थे। इस नोटों की बरसात से पूरे रास्‍ते में नोट ही नोट जमा हो गए थे। कई लोगों की किस्‍मत खुल गई और उन्‍होंने इन नोटों को बटोरने का मौका नहीं छोड़ा।

No comments:

Post a comment

Pages