लोकसभा में नागरिकता बिल पर बहस शुरू, शाह बोले- किसी के साथ अन्याय नहीं - .

Breaking

Monday, 9 December 2019

लोकसभा में नागरिकता बिल पर बहस शुरू, शाह बोले- किसी के साथ अन्याय नहीं



केंद्र सरकार ने आज लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश कर दिया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में जीरो ऑवर में यह बिल सदन के सामने रखा। विपक्षी विरोध के बीच दोपहर में सदन में शाह ने बताया कि इस बिल को लाने की जरूरत क्यों हुई। साथ ही उन्होंने विपक्ष के उन आरोपों को सिरे से खारीज किया जिसमें अल्पसंख्यकों के साथ अन्याय का दावा किया गया है। शाह ने कहा कि इससे भारत के अल्पसंख्यकों को कोई नुकसान नहीं होने वाला है।

शाह ने सदन में बिल पर चर्चा शुरू करते हुए कहा कि Citizenship Amendment Bill 2019 धार्मिक रूप से प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का बिल है। इस बिल ने किसी मुस्लिम के अधिकार नहीं लिए हैं। हमारे एक्ट के अनुसार कोई भी आवेदन कर सकता है। नियमों के अनुसार आवेदन करने वालों को नागरिकता दी जाएगी।

दोपहर में सदन में बिल पर बहस को मंजूरी मिलने के बाद अमित शाह ने सदन में आज ही यह बिल पर बहस शुरू कर दी और शाम 4.30 बजे से इस पर चर्चा शुरू हो गई।  गृहमंत्री के संबोधन के बाद सदन में बिल पेश करने को लेकर वोटिंग करवाई गई और इसमें समर्थन में 293 वोट्स पड़े हैं जबकि विरोध में 82 वोड़ पड़े हैं। कुल 376 सदस्यों ने मतदान किया है।  बिल को लेकर लगातार कांग्रेस के विरोध पर भड़के गृहमंत्री ने सदन में साफ कहा कि आजादी के वक्त अगर कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश का विभाजन न किया होता, तो ये बिल लाने की जरूरत ही नहीं पड़ती।

No comments:

Post a comment

Pages