फर्जी आईडी पर लाखों के रेलटिकट बुक करने वाला दबोचा - .

Breaking

Saturday, 2 November 2019

फर्जी आईडी पर लाखों के रेलटिकट बुक करने वाला दबोचा

Datia : फर्जी आईडी पर लाखों के रेलटिकट बुक करने वाला दबोचा

फर्जी आईडी पर रेल ई-टिकट बुक कर कालाबजारी करने वाले एक आरोपी को झांसी से आई आरपीएफ ने शनिवार को दतिया के बड़ा बाजार से गिरफ्तार किया है। आरोपित के पास से आगामी यात्रा के लाखों रुपए के टिकट बरामद हुए हैं।
झांसी आरपीएफ ने दतिया स्थित जय ज्योति टूर एण्ड ट्रेवल्स, ज्योति कॉम्पलेक्स बड़ा बाजार के मालिक हरीश कुमार रत्नानी निवासी रामनगर कालोनी सिंधी कालोनी के सामने को अवैध रूप से रेलवे के ई-टिकट बनाकर जरूरतमंदों को बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। आरोपी के खिलाफ पोस्ट आरपीएफ झांसी स्टेशन पर 143 रेल अधिनियम के तहत प्रकरण कायम कर रेलवे न्यायालय में पेश किया गया। कार्रवाई आरपीएफ स्टेशन पोस्ट निरीक्षक प्रभारी अशोक कुमार यादव के नेतृत्व में उप निरीक्षक रविन्द्र सिंह राजावत, नितिन कुमार हमराह आरक्षक अरूण सिंह, अब्दुल आरिफ , बीसी अनुरागी तथा आउट पोस्ट दतिया आरक्षक हरिकिशन द्वारा की गई।
फर्जी आईडी से करता था बुकिंग :- आरपीएफ अधिकारियों ने बताया कि आरोपी ने अपनी 12 आईडी खोल रखीं थी। जिनसे वह फर्जी रूप से रेलवे की ई टिकट की बुकिंग करता था। बाद में सैकड़ों रुपए के मुनाफे पर जरुरतमंदों को बेचता था। इस बात की भनक जब झांसी आरपीएफ को लगी तो उन्होने तत्काल कार्रवाई कर आरोपित को गिरफ्तार किया। आरपीएफ पुलिस ने जब आरोपित के कार्यालय पर छापा मार और ऑफिस की तलाशी तो पुलिस को उसके पास 20 आगामी यात्रा ई टिकट (कीमत 27,041 रुपए) व पिछले यात्रा के 116 यात्रा टिकट (कीमत 2,29,940 रुपए) बरामद हुए। पुलिस का कहना है कि आरोपित से पूछताछ में कुछ और मामले भी सामने आ सकते हैं।
अब तक कमाए लाखों रुपए :- आरोपित 12 आईडी के जरिए एक साथ कई सारे टिकट बुक कर लेता था। जिन्हे वह जरुरतमंदो को प्रत्येक टिकिट पर 100 से 200 रुपए मुनाफे के तौर पर लेकर बेचता था। कई बार तो यह राशि 500 रुपए तक भी पहुंच जाती थी। जांच के दौरान पता चला है कि टिकटों को बनाने में प्रयुक्त एसबीआई व एक्सेस बैंक के खातों में जनवरी 2019 से अब तक का लगभग 25,98,195 रुपए रुपयों तक का ट्रांसजेक्शन पाया गया।
दुकानदारों में मचा हड़कंप :- झांसी आरपीएफ द्वारा बड़ा बाजार दतिया के ज्योति कॉम्प्लेक्स में दस्तक से दुकानदारों में हड़कंप मच गया। कई दुकानदार तो बिना मामला जाने ही अपनी दुकान बंद कर भाग खड़े हुए। मई में दतिया के निवासी को मुंबई क्राइम ब्रांच द्वारा पकड़ा गया था। जिसने एयर टिकट के मामलों में करोड़ो की हेराफेरी की थी। इस मामले में पकड़ा गया आरोपी राजा परमार भी दतिया के पास ही एक गांव का रहने वाला था।

No comments:

Post a Comment

Pages