महाकाल मंदिर में लगे पत्थर की मजबूती जांचने के लिए आया दल - .

Breaking

Monday, 14 October 2019

महाकाल मंदिर में लगे पत्थर की मजबूती जांचने के लिए आया दल

महाकाल मंदिर में लगे पत्थर की मजबूती जांचने के लिए आया दल

विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में लगे पत्थर कितने मजबूत हैं, इसकी जांच के लिए रूड़की और भोपाल से विशेषज्ञों का एक दल उज्जैन आया हुआ है। विशेषज्ञों ने रविवार को पत्थरों की जांच की। बता दें कि 31 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को महाकाल मंदिर के स्ट्रक्चर की मजबूती जांचने के लिए एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति बनाने को कहा था। कोर्ट ने विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी थी। इस पर केंद्र सरकार ने केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान रूड़की, आईआईटी चैन्न्ई तथा राष्ट्रीय प्रोद्यौगिकी संस्थान भोपाल के विशेषज्ञों द्वारा जांच कराने का निर्णय लिया। मामले में 10 सितंबर 2019 को विशेषज्ञों की टीम ने महाकाल मंदिर पहुंचकर जांच भी की थी। शनिवार को एक बार फिर रूड़की व भोपाल के विशेषज्ञ उज्जैन पहुंचे तथा चिंतामन स्थित वैदिक शोध संस्थान भवन में पत्थर की जांच की।
बताया जाता है यह पत्थर बाहर से मंगवाया गया है। विशेषज्ञों ने पत्थर को उच्चदाब से तोड़कर देखा तथा केमिकल जांच भी की गई है। जीएसआई भोपाल के वरिष्ठ अधिकारी हेमराज सूर्यवंशी ने बताया कि जांच के लिए जीएसआई के डायरेक्टर बीपी गौर तथा रूडकी के विशेषज्ञ शनिवार को उज्जैन पहुंचे थे। इसकी रिपोर्ट मंदिर प्रबंध समिति को सौंपी जाएगी। इसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। गौरतलब है कि पिछले दिनों मंदिर के शिखर का एक हिस्सा अचानक नीचे आ गिरा था।

आज से बदलेगा आरती का समय :- ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा सोमवार से आरती का समय बदलेगा। शीत ऋतु में सुबह व शाम को होने वाली तीन आरती के समय में बदलाव होता है। यह क्रम फाल्गुन पूर्णिमा तक चलेगा। सोमवार से द्दयोदक आरती सुबह 7.30 से 8.15 बजे तक, भोग आरती सुबह 10.30 से 11.15 बजे तथा तथा संध्या आरती शाम 6.30 से 7.15 बजे तक होगी। भस्मारती, सांयकालीन पूजन तथा शयन आरती अपने निर्धारित समय क्रमश: तड़के 4 बजे, शाम 5 बजे तथा रात्रि 10.30 बजे से होगी।

No comments:

Post a Comment

Pages