पीवीआर का शुद्घ लाभ बढ़ा, फोर्स मोटर्स को नुकसान - .

Breaking

Thursday, 17 October 2019

पीवीआर का शुद्घ लाभ बढ़ा, फोर्स मोटर्स को नुकसान

दूसरी तिमाही: पीवीआर का शुद्घ लाभ बढ़ा, फोर्स मोटर्स को नुकसान

मल्टीप्लेक्स श्रृंखला परिचालक पीवीआर का 30 सितंबर को समाᄍा चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही का शुद्घ लाभ 34.98 प्रतिशत बढ़कर 47.88 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही मेंकंपनी ने 35.47 करोड़ रुपए का शुद्घ लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय 37.04 प्रतिशत बढ़कर 979.4 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 714.65 करोड़ रुपए थी। पीवीआर फिलहाल 69 शहरों में 170 संपत्तियों पर कुल 800 स्क्रीन का परिचालन करती है।
फोर्स मोटर्स का शुद्घ लाभ 89.41 प्रतिशत घटकर 4.21 करोड़ रुपए :- फोर्स मोटर्स का शुद्घ लाभ 30 सितंबर को समाᄍा दूसरी तिमाही में 89.41 प्रतिशत घटकर 4.21 करोड़ रुपए रहा। फोर्स मोटर्स ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्घ लाभ 39.76 करोड़ रुपए था। कंपनी की परिचालन आय 2019-20 की दूसरी तिमाही में 14 प्रतिशत घटकर 755.15 करोड़ रुपए रही जो एक साल पहले इसी तिमाही में 878.93 करोड़ रुपए थी। फोर्स मोटर्स ने कहा कि उसका शुद्घ लाभ चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 62.38 प्रतिशत घटकर 30.38 करोड़ रुपए रहा जो एक साल पहले इसी छमाही में 80.75 करोड़ रुपए था।
सितंबर तिमाही में 154 लाख वर्ग फीट कार्यालय स्थल पट्टे पर दिया गया :- संपत्ति परामर्शक कंपनी सीबीआरई के अनुसार इस साल जुलाई से सितंबर के दौरान 154 लाख वर्ग फीट कार्यालय स्थल पट्टे पर दिया गया। यह 23 प्रतिशत की वृद्घि को दर्शाता है। सीबीआरई ने कहा कि यह इस साल बढ़कर 600 लाख वर्ग फीट के पार जा सकता है, जो सर्वकालिक उधा स्तर होगा। सीबीआरई ने तीसरी तिमाही के 'इंडिया ऑफिस मार्केट व्यू' रिपोर्ट में कहा कि इस साल के पहले नौ महीनों में पट्टे पर कार्यालय में 30 प्रतिशत से अधिक की वृद्घि दर्ज की गई और यह 470 लाख वर्ग फीट के पार चला गया। रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान यह बढ़कर चेन्नाई में 18 लाख वर्ग फीट और पुणे में 14 लाख वर्ग फीट पर पहुंच गया। हालांकि मुंबई में यह गिरकर 15 लाख वर्ग फीट, बेंगलुरु में 40 लाख वर्ग फीट और कोधिा में 10 हजार वर्ग फीट पर आ गया।यह दिल्ली एनसीआर में 23 लाख वर्ग फीट, कोलकाता में दो लाख वर्ग फीटऔर अहमदाबाद में एक लाख वर्ग फीट पर स्थिर रहा।

No comments:

Post a Comment

Pages