तीन साल की शंजन... दोनों हाथों से एक साथ लिखने में माहिर, 195 देशों की राजधानी याद - .

Breaking

Thursday, 10 October 2019

तीन साल की शंजन... दोनों हाथों से एक साथ लिखने में माहिर, 195 देशों की राजधानी याद

तीन साल की शंजन... दोनों हाथों से एक साथ लिखने में माहिर, 195 देशों की राजधानी याद

शहर की असाधारण प्रतिभा संपन्न् बालिका शंजन थम्मा, जिसका नाम 'यंगेस्ट एम्बिडेक्स्ट्रस राइटर' के रूप में वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है। शंजन दाएं-बाएं दोनों हाथों से लिख सकती है। उसे विश्व के सभी 195 देशों के नाम राजधानी समेत मुंहजुबानी याद हैं। चंद्रयान-2 मिशन की लांचिग डेट समेत समस्त वो जानकारी भी उसे है, जो सामान्य विद्यार्थियों को पता नहीं होती। शंजन, एयरफोर्स में पदस्थ श्रीधर थम्मा की बेटी है। वह 12 अक्टूबर को तीन वर्ष की हो जाएगी। शंजन नाना- नानी व मां के साथ परवाना नगर में रहती हैं। मां मानसी ने बताया, बेटी की प्रतिभा से अवगत कराने दो महीने पहले वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया में आवेदन किया। जांच के बाद उन्होंने बेटी का नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया। पुरस्कार स्वरूप गोल्ड मेडल, स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र घर भेजा।
वंदेमातरम्, जन-गणमन गाने के लिए एक रिकॉर्ड :- शंजन का एक और रिकॉर्ड सबसे कम उम्र की बालिका के रूप में वंदेमातरम्, जन-गण-मन और सारे जहां से अच्छा गीत गाने के लिए बनेगा। वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया ने आवेदन को स्वीकृत कर दिया है। उज्जैन की इस छोटी सी बच्ची की प्रतिभा का हर कोई कायल हो गया है। सभी लोग इस बात से हैरान हैं कि इतनी कम उम्र में भी वो इतनी चीजें याद रखती हैं जो बड़े-बड़े याद नहीं रख पाते। शंजन की इस प्रतिभा से उनकी मां मानसी और पूरा परिवार बहुत खुश है। उन्हें यकीन है कि उनकी बेटी बड़ी होकर दुनिया में भारत का नाम रोशन करेगी।
इसके पहले रायपुर की 12 वर्ष की काव्या चावड़ा का नाम भी सामने आया था जो इसी तरह दोनों हाथों से लिखने की प्रतिभा की धनी हैं। खास बात यह है कि वो एक साथ से सीधे और दूसरे हाथ से उल्टा लिखती हैं। स्कूल में लोग उन्हें प्यार से लेडी वायरस बुलाते हैं, क्योंकि उन्हें दोनों हाथों से लिखने की प्रेरणा फिल्म थ्री इडियट्स के किरदार वीरू स‍स्त्रबुद्धे(वायरस) से मिली जो फिल्म में दोनों हाथों से लिखते हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages