भगवान शंकर के बाद अब 'हीरो' बने तेजप्रताप, मिले कॉमेंट्स- अब CM बनो भाई जान - .

Breaking

Sunday, 4 August 2019

भगवान शंकर के बाद अब 'हीरो' बने तेजप्रताप, मिले कॉमेंट्स- अब CM बनो भाई जान

भगवान शंकर के बाद अब 'हीरो' बने तेजप्रताप, मिले कॉमेंट्स- अब CM बनो भाई जान

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) अपने लुक को लेकर सोशल मीडिया पर लगातार सुर्ख़ियों में रहते हैं। अभी कुछ दिनों पहले वो भगवान शंकर का रूप धर पूजा-पाठ करते नजर आए थे, जिसकी तस्वीरें और वीडियोज सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुईं थीं और अब भगवान शिव के बाद तेजप्रताप यादव का नया लुक नजर आया है, जिसमें वो बॉलीवुड के हीरो की तरह नजर आ रहे हैं। तेजप्रताप यादव ने इंस्टाग्राम (Instagram) पर अपनी कुछ तस्वीरें शेयर की हैं, जिसमें वो बिल्कुल बॉलीवुड के हीरो की तरह दिख रहे हैं। उनकी पोस्ट पर उनके फॉलोवर्स ने मजेदार कॉमेंट्स किए हैं। किसी ने लिखा है कि आप बिल्कुल हीरो लग रहे हैं। भैया, मॉडलिंग में जाने का इरादा लग रहा है।तो किसी ने लिखा कि आप बहुत ही स्मार्ट लग रहे हो तो वहीं किसी ने ये भी लिखा है कि सब छोड़ो सी.एम. बनो भाईजान।
इससे पहले तेजप्रताप यादव ने सावन के महीने में भगवान शिव का रूप धरा था और भक्तिभाव में डूबे नजर आ रहे थे। उन्होंने शिव का रूप धरकर ही देवघर में भगवान वैद्दनाथ का जलाभिषेक किया था। उससे पहले सावन की पहली सोमवारी के मौके पर वह पूरी तरह से शिव की भक्ति में डूबे नजर आए। उन्होंने भगवान शिव का वेश धारण कर रुद्राभिषेक किया था। अपने Instagram अकाउंट पर उन्होंने अपना फोटो और विडियो शेयर किया जो वायरल हो रहा है। सावन के पहले सोमवार को तेज प्रताप ने भगवान शिव की वेशभूषा में वैदिक मंत्रोच्‍चार के बीच रुद्राभिषेक किया। बता दें कि तेज प्रताप यादव अपनी भक्ति को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। इससे पहले पिछले साल पटना में 'शिव अवतार' में नजर आए थे।
सावन महीने में शिव की पूजा के लिए देवघर निकलने से पहले तेज प्रताप ने पटना में पूजा-अर्चना की थी। इस दौरान उनकी वेश-भूषा चर्चा का विषय बन गई थी। वैसे भी तेज प्रताप यादव अपने निराले अंदाज के लिए जाने जाते हैं। कभी वे कृष्ण का रूप धर लेते हैं तो कभी भगवान शंकर के रूप में देखे जाते  हैं। कभी सड़क निर्माण कार्य करने लगते हैं तो कभी जलेबी बनाते हैं। कभी गायें चराने लगते हैं तो कभी घुड़सवारी भी करते हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages