कश्मीर को लेकर हुए बड़े बदलाव पर कुमार विश्वास ने किसे कहा- 'बुआ के भतीजे भिखारी हो गए' - .

Breaking

Monday, 5 August 2019

कश्मीर को लेकर हुए बड़े बदलाव पर कुमार विश्वास ने किसे कहा- 'बुआ के भतीजे भिखारी हो गए'

कश्मीर को लेकर हुए बड़े बदलाव पर कुमार विश्वास ने किसे कहा- 'बुआ के भतीजे भिखारी हो गए'

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) द्वारा सोमवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने की सिफारिश का प्रस्ताव पेश करने पर दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी (aam aadmi party) के बागी नेता कुमार विश्वास ने लगातार चार ट्वीट किए हैं। इसमें उन्होंने कहा कि यह एतिहासिक क्षण है, तो वहीं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर भी जबरदस्त तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट किया है- 'आज ही धंधा बंद हुआ और आज ही बुआ और महबूबा के ये भतीजे कपड़े फाड़कर भिखारी भी हो गए।' 
दरअसल, पीडीपी से राज्यसभा सदस्य नजीर अहम और एमएम फैयाज ने जम्मू-कश्मीर को लेकर पेश प्रस्ताव के विरोध में संसद के बाहर प्रदर्शन के दौरान अपने कपड़े फाड़ लिए। उधर, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने राज्य में अनुच्छेद हटाने को लेकर पेश हुए प्रस्ताव पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। वहीं, इससे पहले एक ट्वीट में कुमार विश्वास ने लिखा है- 'भारतमाता के माथे की पुरातन पीर हरने के लिए सरकार का आभार ! हर नागरिक से अनुरोध है कि दशकों से लम्बित इस शल्यक्रिया के दौरान देश के साथ रहें ! ये ऐतिहासिक क्षण है।
गृहमंत्री अमित शाह ने जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए सोमवार को ऐतिहासिक बदलाव की पेशकश की। उन्‍होंने यहां से अनुच्‍छेद 370 हटाने की सिफारिश की। इस बदलाव को राष्‍ट्रपति की ओर से मंजूरी दे दी गई है। बसपा की ओर से भी इसे समर्थन दे दिया गया है। गृह मंत्री के इस जवाब पर राज्य सभा में जोरदार हंगामा शुरू हो गया। राष्‍ट्रपति की मंजूरी के बाद अनुच्‍छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे। इसमें सिर्फ एक खंड रहेगा। उन्‍होंने जम्‍मू कश्‍मीर के पुनर्गठन का विधेयक पेश किया। जम्‍मू कश्‍मीर को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया। लद्दाख भी अलग केंद्र शासित प्रदेश बनेगा।
राज्‍यसभा में 'लोकतंत्र की हत्‍या नहीं चलेगी' के नारे लगाए जा रहे हैं। बसपा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा, 'हमारी पार्टी की ओर से पूरा समर्थन है। हम चाहते हैं कि यह विधेयक पारित हो जाए। हमारी पार्टी किसी तरह का विरोध नहीं दर्ज करा रही है।' लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्‍याल ने अपना समर्थन देते हुए कहा, 'मैं लद्दाख के नागरिकों की ओर से विधेयक का समर्थन करता हूं। जनता इसे केंद्र शासित क्षेत्र बनाना चाहती है। जो आज हो रहा है।' जेडीयू के केसी त्‍यागी ने कहा, 'हमारे प्रमुख नीतिश कुमार जेपी नारायण, राम मनोहर लोहिया व जार्ज फर्नांडीस की परंपरा को आगे ले जा रहे हैं। इसलिए पार्टी विधेयक का समर्थन नहीं करती है। हमारी सोच अलग है। हम नहीं चाहते हैं कि अनुच्‍छेद 370 हटाया जाए।' इसपर नेशनल कांफ्रेंस के उमर अब्‍दुल्‍ला ने विरोध जताते हुए कहा कि इसके खतरनाक और गंभीर परिणाम होंगे।

No comments:

Post a Comment

Pages