घायल सैनिक कहते थे, जल्दी ठीक कर दो, दुश्मनों को मारने जाना है - .

Breaking

Friday, 26 July 2019

घायल सैनिक कहते थे, जल्दी ठीक कर दो, दुश्मनों को मारने जाना है

Kargil Vijay Diwas 2019 : घायल सैनिक कहते थे, जल्दी ठीक कर दो, दुश्मनों को मारने जाना है

मैं सैन्य अस्पताल में महानिदेशक था। जैसे ही कारगिल में युद्ध की स्थिति बनी, मुझे वहां 6 अस्पतालों की कमान संभालनी थी। उस समय गंभीर घायल सैनिकों का जोश भी परवान पर था। वे कहते थे- गंभीर घायल सैनिक कहते थे- 'डॉक्टर साहब जल्दी ठीक कर दें, हमें मैदान में दुश्मनों को मारने जाना है।' 1400 सैनिक घायल हुए थे। उनमें से 375 सैनिक तो ठीक होने के बाद फिर मैदान में जंग लड़ने के लिए डट गए थे। यह जानकारी लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. एससी वर्मा ने नईदुनिया को बताई। वर्तमान में 81 वर्षीय डॉ. वर्मा स्कीम नंबर 74 विजय नगर में रहते हैं। डॉ. वर्मा को राष्ट्रपति से सेना का विशिष्ट सेवा पदक भी मिल चुका है।
वे कहते हैं कि कारगिल के युद्ध के दौरान हमारे पास गंभीर घायल हालत में आने के बावजूद सैनिक कहते थे कि हमें जल्दी ठीक कर दें, हमें मैदान में दुश्मनों को मारने जाना है। जैसे-तैसे हम इलाज पूरा होने तक सैनिकों को अस्पताल में रखते थे। शुरुआत के 15 मिनट में सैनिक को बचाने के लिए जितने प्रयास कर सकते थे, उतना करते थे। युद्ध में करीब 1400 घायल सैनिकों का इलाज किया था। इसके पहले 1961, 1965 और 1971 के युद्ध में भी सेवाएं दी थी। तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. केआर नारायणन ने उन्हें सम्मानित किया था।

No comments:

Post a Comment

Pages