आलीराजपुर जिले में तेंदुए ने छह ग्रामीणों पर किया हमला - .

Breaking

Tuesday, 16 July 2019

आलीराजपुर जिले में तेंदुए ने छह ग्रामीणों पर किया हमला

आलीराजपुर जिले में तेंदुए ने छह ग्रामीणों पर किया हमला

जोबट वन क्षेत्र के ग्राम कोसदुना-देसिंगपुर रहवासी इलाके में सोमवार सुबह एक तेंदुए ने हमला कर छह लोगों को घायल कर दिया है। संभावना जताई जा रही है कि यह वही तेंदुआ हो सकता है, जिसने दो दिन पहले उदयगढ़ क्षेत्र में आतंक मचाया था। घटना की जानकारी मिलते ही वन विभाग के साथ पुलिस विभाग और ग्रामवासियों ने करीब दो घंटे तक घेरकर कर रखा, मगर एक बार फिर वन विभाग की सुस्ती सामने आई। जब वन विभाग के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे, तब तक तेंदुआ जंगल में भाग निकला।
जानकारी के अनुसार ग्राम देसिंगपुर में तेंदुए ने एक के बाद एक छह लोगों पर हमला कर दिया। सबसे पहले सरिता थानसिंह (5) पर उस वक्त हमला कि या, जब वह घर के सामने लगी सब्जी तोड़ने गई। अचानक हुए हमले से सरिता एकदम चीखते हुए भागी तो उसकी चीख सुनकर तेंदुआ भी वहां से भागने लगा और उस दौरान पशु चराने जा रहे मंजुला पिता रामसिंग (10), बबलू पिता रमेश (12), रामसिंह पिता नाहला (45) और वेरसिंह पिता नाहला (60) पर हमला कर घायल कर दिया। उसी दौरान खेत की जा रहे मेहबु पिता गमरिया (65) भी उसके सामने पड़ गया और मेहबु ने उसे भगाने के लिए जैसे ही फालिया दिखाया तो तेंदुए ने भी उस पर हमला कर घायल कर दिया।

घटना के बाद वन विभाग का अमला जंगलों में पहुंचा और खूंखार तेंदुए की तलाश की। तब ग्राम के जोबट-बोरी मार्ग के कि नारे लगी झाड़ियों में उसकी उपस्थिति दर्ज की गई। उसी दौरान एसडीओ व डीएफओ गोपाल कछावा भी घटना स्थल पर पहुंचे। वहीं थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। हालांकि इस दौरान संसाधनों के अभाव में तेंदुए को पकड़ा नहीं जा सका और सभी चकमा देते हुए वह जंगल में भाग निकला। ग्रामीण की माने तो दो घंटे तक सभी के सामने तेंदुआ झाड़ियों में आराम करता रहा और विभाग की टीम उसे देखती रही, मगर पकड़ने का प्रयास नहीं कि या। फिलहाल सभी घायलों का जोबट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज चल रहा है।

No comments:

Post a Comment

Pages