मॉल के बेसमेंट में रखी मिली 14 लाख से भरी तिजोरी, जानिए इसके पीछे की पूरी कहानी - .

Breaking

Monday, 15 July 2019

मॉल के बेसमेंट में रखी मिली 14 लाख से भरी तिजोरी, जानिए इसके पीछे की पूरी कहानी

VIDEO : मॉल के बेसमेंट में रखी मिली 14 लाख से भरी तिजोरी, जानिए इसके पीछे की पूरी कहानी

होशंगाबाद रोड पर कैपिटल मॉल में महिदपुर वाला फर्नीचर शोरूम से सोमवार सुबह एक चोर तिजोरी चोरी कर ले गया। उसमें करीब 14 लाख रुपए थे। वारदात के बाद वहां तैनात गार्ड को देखकर चोर भाग गया। गार्ड ने शोरूम मालिक और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद मॉल में छह घंटे तक सर्चिंग चली। इस दौरान चोर द्वारा बेसमेंट में छिपाए गए रुपए पुलिस को मिल गए। मॉल में लगे सीसीटीवी कैमरे में चोर कैद हो गया है। केस दर्ज कर पुलिस फुटेज के आधार पर चोर की तलाश कर रही है।

मिसरोद थाना प्रभारी निरंजन शर्मा के अनुसार शिवेंद्र कुमार दुबे (27) एमआइजी 40 अटलकुंज श्रीकृष्णपुरम में रहते हैं। वे महिदपुर वाला फर्नीचर प्राइवेट लिमिटेड में मैनेजर हैं। फर्नीचर का शोरूम कैपिटल मॉल के पहले माले पर है। रविवार की रात करीब साढ़े दस बजे शिवेंद्र शोरूम बंद कर घर चले गए थे। उस वक्त अकाउंटेंट राजकुमार ने शनिवार और रविवार की बिक्री के कुल 13 लाख 65 हजार 120 रुपए तिजोरी में रखे थे। सोमवार सुबह करीब छह बजे कैपिटल मॉल के सुरक्षा गार्ड राजेश अहिरवार ने फोन पर सूचना दी कि शोरूम के नीचे वाले गेट से एक संदिग्ध व्यक्ति निकल कर भागा है।
रुपए बाहर ले जाने की तैयारी कर रहा था चोर :- टीआई शर्मा ने बताया कि मॉल में सीसीटीवी कैमरे में एक संदिग्ध व्यक्ति दिखाई दिया है। वह महिदपुर वाला शोरूम के नीचे बेसमेंट वाले गेट से तिजोरी को बहार ले जाने के योजना बना रहा था। तभी सिक्योरिटी गार्ड राजेश ने उसे देखा और आवाज लगाई। चोर घबराकर खाली हाथ वहां से भाग गया। फुटेज में वह मॉल से खाली हाथ जाते जाते हुए दिखा। इस पर पुलिस टीम ने चोरी गए रुपए तलाशने के लिए मॉल में सर्चिंग की। आखिर छह घंटे बाद बेसमेंट के कोने में छिपाकर रखी गई तिजोरी और उसमें रखे 14 लाख रुपए मिल गए। शिवेंद्र शोरूम पर पहुंचे तो कैश काउंटर के कैबिन का गिलास टूटा मिला। उसमें रखी तिजोरी व स्वाइप मशीन नहीं थी।
महिदपुर वाला फर्नीचर के डायरेक्टर अदनान राजा ने सिक्योरिटी गार्ड को नकद इनाम देने की घोषणा कर पुलिस की सराहना की है।

No comments:

Post a Comment

Pages