JP Hospital में मां के साथ रखे जाएंगे कम वजन वाले नवजात - .

Breaking

Wednesday, 26 June 2019

JP Hospital में मां के साथ रखे जाएंगे कम वजन वाले नवजात

JP Hospital में मां के साथ रखे जाएंगे कम वजन वाले नवजात

 जेपी अस्पताल के सिक न्यू बॉर्न केयर यूनिट (एसएनसीयू) में भर्ती होने वाले कम वजन के नवजातों के लिए अलग यूनिट बनाई जा रही है। यहां पर उन बच्चों को रखा जाएगा जिन्हें कोई बड़ी बीमारी नहीं है। वजन कम होने की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। एसएनसीयू में मां सिर्फ बच्चे को दूध पिलाने के लिए जाती है, पर नई यूूनिट में इन बच्चों को उनकी मां के साथ रखा जाएगा। यूनिट बनाने के लिए एनएचएम के इंजीनियरों की टीम ने मंगलवार को जगह का मुआयना किया।
नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के अफसरों ने बताया कि एसएनसीयू के पास बने पीडियाट्रिक इंसेटिव केयर यूनिट (पीआईसीयू) की जगह नवजातों के लिए हाई डिपेंडेंसी यूनिट (एचडीयू) बनाई जाएगी। यह यूनिट 10 बेड की होगी। यहां पर बच्चों की मां भी उनके साथ में रह सकेंगी। अधिकारियों ने बताया कि एसएनसीयू में करीब 25 फीसदी बच्चे कम वजन के भर्ती होते हैं। उन्हें कोई बीमारी नहीं होने के बाद भी वजन सामान्य होने तक उन्हें एसएनसीयू में भर्ती करना पड़ता है।

जेपी अस्पताल का एसएनसीयू सिर्फ 30 बेड का है। इनमें 10 से 12 बच्चे सामान्य रहते हैं, जिनके भर्ती रहने से दूसरे बच्चों को बेड नहीं मिल पाता। उन्हें हमीदिया रेफर करना पड़ता है। इसके अलावा एचडीयू में उन बच्चों को रखा जाएगा जिन्हें पीलिया या अन्य बीमारी के चलते फोटो थैरेपी की जरूरत है। हालांकि, यहां बच्चों के साथ रहने वाली माताओं को पूरी सफाई के साथ रहना होगा, जिससे बच्चे को संक्रमण न हो। अधिकारियों ने बताया कि पहले पीआईसीयू को ऊपरी मंजिल पर शिफ्ट किया जाएगा। इसके बाद एचडीयू बनाने का काम शुरू होगा।
आईसीयू की तर्ज पर बनेगा पीआईसीयू :- ऊपरी मंजिल बने एक बच्चा वार्ड को पीआईसीयू बनाया जाएगा। इस पीआईसीयू को आईसीयू की तर्ज पर बनाया जाएगा। यहां सेंट्रलाइज ऑक्सीजन सिस्टम, आईसीयू बेड, मल्टी पैरामॉनीटर, पल्स आक्सीमीटर, वेंटिलेटर व अन्य सुविधाएं रहेंगी। पूरे समय एक डॉक्टर तैनात रहेगा। यहां पर एक से पांच साल तक के बच्चों को भर्ती किया जाएगा।
जल्द काम शुरू होगा :-  नया पीआईसीयू व नवजातों के लिए एचडीयू बनाया जाना है। इंजीनियरों की टीम ने जगह का मुआयना किया है। जल्द ही इसका काम शुरू होगा।

No comments:

Post a Comment

Pages