कैसे बढ़ाएं अपने पुराने स्मार्टफोन की स्पीड - .

Breaking

Saturday, 29 June 2019

कैसे बढ़ाएं अपने पुराने स्मार्टफोन की स्पीड

कैसे बढ़ाएं अपने पुराने स्मार्टफोन की स्पीड

स्मार्टफोन जब पुराना होने लगता है तो धीरे-धीरे धीमा होने लगता है। हैंग होने के साथ एप्स भी क्रैश होने लग जाते हैं। परफॉर्मेंस भी वैसा नहीं रहता है। वजह कई हैं, लेकिन कुछ चीजों का ध्यान रखें तो स्पीड की समस्या से निजात पा सकते हैं। अक्सर आपके साथ भी ऐसा होता होगा कि जब किसी का फोन आता है तो यह हैंग होने लग जाता है, बटन पर टैप करते हैं, लेकिन वह काम नहीं करता है। कोई ऐप ओपन करते हैं, लेकिन वह खुलने में ज्यादा समय लेता है और गेमिंग के दौरान भी सही स्पीड नहीं मिलती। अगर ऐसा नियमित तौर पर होने लगे तो चिढ़ होने लगती है। पर नए फोन के साथ ही कुछ चीजों का ध्यान रखा जाए, तो न सिर्फ फोन की लाइफ बढ़ जाती है, बल्कि उसका परफॉर्मेंस भी बना रहता है।
अपडेट करें सिस्टम सॉफ्टवेयर :- जब कोई स्मार्टफोन लॉन्च होता है, तो वह एक खास ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ आता है, लेकिन कंपनियां हर साल नए वर्जन वाले ओएस (ऑपरेटिंग सिस्टम) की घोषणा करती हैं, जो पुराने डिवाइस के लिए भी उपलब्ध होता है। ओएस अपडेट के साथ कंपनियां समयसमय पर सिक्योरिटी अपडेट भी जारी करती रहती हैं। ये अपडेट्‌स स्मार्टफोन की परफॉर्मेंस को बनाए रखने में उपयोगी होते हैं, लेकिन बहुत सारे यूजर ऐसे भी होते हैं, जो इन अपडेट्‌स को नजरअंदाज कर देते हैं। यह बाद में फोन की परफॉर्मेंस को प्रभावित करने लगता है। एंड्रॉयड फोन इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर आइफोन, फोन की सेटिंग्स में जाकर अपडेट को चेक कर सकते हैं। अच्छी बात यह है कि अपडेट्‌स को मैनुअली भी चेक किया जा सकता है। वैसे, तो ज्यादातर अपडेट्‌स के दौरान यूजर को अपने स्मार्टफोन का बैकअप रखने की जरूरत नहीं होती है, लेकिन अगर बैकअप ले लेते हैं, तो बेहतर होगा।
बैकग्राउंड प्रॉसेस को करें डिसेबल  :- बहुत सारे एप्स बैंकग्राउंड में रन करते रहते हैं। इस तरह के एप्स स्मार्टफोन की स्पीड को प्रभावित करते हैं। कौन-सा ऐप बैंकग्राउंड में चल रहा है, इसे जानने के लिए सेटिंग्स में एप्स सेक्शन में जाना होगा। यहां पर आपको रनिंग का टैब दिखाई देगा। आप यहां पता लगा सकते हैं कि कौन-सा एप बैकगाउंड में चल रहा है। अगर ऐसे एप्स का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, तो फिर उसे अनइंस्टॉल करना ही बेहतर होगा। इसके अलावा, कुछ एप्स बैकग्राउंड में सिंक होते रहते हैं। अगर इसकी जरूरत नहीं है, तो फिर सिंक्रोनाइजेशन को बंद करना बेहतर होगा। इसके लिए एंड्रॉयड यूजर 'एडवांस टास्क मैनेजर' एप का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
जो जरूरी नहीं, उसे हटाएं :- बहुत सारे ऐसे यूजर भी होते हैं, जो बिना जरूरत वाले एप्स को भी इंस्टॉल कर लेते हैं। अगर फोन में जरूरत से ज्यादा एप्स हैं, तो यह फोन की स्पीड को प्रभावित कर सकता है। इसलिए जो एप्सजरूरत के नहीं हैं, उन्हें हटाना ही बेहतर होगा। प्री-इंस्टॉल एप को अनइंस्टॉल नहीं कर सकते हैं, उन्हें डिसेबल किया जा सकता है। लाइव वॉलपेपर्स और होम स्क्रीन पर बहुत ज्यादा विजेट्‌स भी स्मार्टफोन की परफॉर्मेंस को प्रभावित करते हैं। अच्छी स्पीड के लिए सिंपल वॉलपेपर्स और कम विजेट का उपयोग करना ही सही होगा।

ब्राउजर कैशे और स्टोरेज को करें क्लीन  :- अगर आपका फोन पुराना हो गया है, तो इंटरनल स्टोरेज पर गौर करें। इससे भी परफॉर्मेंस पर असर पड़ता है। फोन की स्पीड को बेहतर करना चाहते हैं, तो फिर इंटरनल स्टोरेज का 10 से 20 फीसद हिस्सा खाली होना जरूरी है। आजकल तकरीबन सभी स्मार्टफोन में माइक्रोएसडी कार्ड का इस्तेमाल करें।

No comments:

Post a Comment

Pages