वर्जिनिटी टेस्ट की प्रथा का किया विरोध तो परिवार का किया बहिष्कार, ऐसे सामने आया पूरा मामला - .

Breaking

Friday, 17 May 2019

वर्जिनिटी टेस्ट की प्रथा का किया विरोध तो परिवार का किया बहिष्कार, ऐसे सामने आया पूरा मामला

वर्जिनिटी टेस्ट की प्रथा का किया विरोध तो परिवार का किया बहिष्कार, ऐसे सामने आया पूरा मामलामहाराष्ट्र के ठाणे जिले में वर्जिनिटी टेस्ट (कौमार्य परिक्षण) का अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जिले में कंजरभट समुदाय के एक परिवार ने नवविवाहिता के वर्जिनिटी टेस्ट की प्रथा का विरोध किया तो उन्हें 1 साल से सामाजिक बहिष्कार झेलना पड़ रहा है। पीड़ित परिवार के सामने आने के बाद पुलिस ने अम्बरनाथ कस्बे के 4 लोगों के खिलाफ बुधवार को केस दर्ज कर लिया है। किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है।
ये है मामला :- पुणे में अंबरनाथ के प्रसिद्ध फातिमा स्कूल परिसर निवासी विवेक तमाइचिकर का डेढ़ साल पहले उसी के समाज की लड़की से विवाह हुआ था। शादी के बाद जाति पंचायत की मांग पर होने वाले वर्जिनिटी टेस्ट का विवेक ने विरोध किया था। इसी कारण जाति पंचायत ने उस दंपति का बहिष्कार कर दिया।

दादी के निधन में नहीं आया कोई :- सोमवार की रात विवेक की दादी का निधन हो गया। इस दुःख की घड़ी में समाज का कोई व्यक्ति उसके घर नहीं गया। सभी गांव के ही एक विवाह समारोह में चले गए। इसी कार्यक्रम के दौरान जाति पंचायत के एक नेता ने लोगों से आह्वान किया कि तमाइचिकर के घर अंतिम यात्रा में कोई शामिल न हों। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामला सामने आया।
गृह मंत्री बोले, यह यौन उत्पीड़न है :- महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री रणजीत पाटिल ने कहा कि वर्जिनिटी टेस्ट को यौन उत्पीड़न का एक रूप माना जाएगा। कानून और न्यायपालिका विभाग के साथ विचार-विमर्श के बाद इस संबंध में एक परिपत्र जारी किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

Pages