सऊदी अरब की तेल पाइप लाइन पर ड्रोन से हमला, कच्‍चे तेल की आपूर्ति रोकी - .

Breaking

Tuesday, 14 May 2019

सऊदी अरब की तेल पाइप लाइन पर ड्रोन से हमला, कच्‍चे तेल की आपूर्ति रोकी

सऊदी अरब की तेल पाइप लाइन पर ड्रोन से हमला, कच्‍चे तेल की आपूर्ति रोकी

सऊदी अरब के चार टैंकरों पर हमले के दो दिन बाद फिर बड़ा हमला किया गया है। एक प्रमुख सऊदी तेल पाइपलाइन पर दो पंपिंग स्टेशनों पर मंगलवार को विस्फोटक से भरे ड्रोन से हमला किया गया है। इसके बाद कच्चे तेल के प्रवाह को रोक दिया गया है। माना जा रहा है कि इससे खाड़ी क्षेत्र में विवाद और बढ़ सकता है। 
सऊद अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल फलीह ने कहा कि तेल से समृद्ध पूर्वी प्रांत से लाल सागर तक जाने वाली पाइप लाइन पर मंगलवार सुबह हमले किए गए। यह एक आतंकी कृत्‍य है, जिसने वैश्विक तेल आपूर्ति को टारगेट किया है। सऊदी की सरकारी तेल कंपनी अरामको से जुड़े तेल के बुनियादी ढांचे को निशाना बनाने के साथ पाइप लाइन से जुड़े एक स्टेशन पर आग लगाकर टारगेट किया गया। ईरान समर्थित हउथी विद्रोही, जो यमन में सऊदी के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन से जूझ रहे हैं, ने पहले दावा किया था कि उन्होंने ड्रोन के साथ कई महत्वपूर्ण सऊदी ठिकानों को निशाना बनाया है। बाद में कहा गया कि यह राजघराने को एक संदेश भेजने के लिए है कि वह उनके देश के खिलाफ आक्रामकता को रोकें। इससे तुरंत यह स्पष्ट नहीं हो सका कि वे फुजैराह अमीरात के पास रविवार की टैंकरों पर तोड़फोड़ की घटना के लिए जिम्मेदारी ले रहे हैं।  
अमेरिकी रक्षा विभाग ने दावा किया कि रविवार को विस्‍फोटकों से चार वाणिज्यिक जहाजों में छेद करने के बाद इस घटना से क्षेत्र में तनाव बढ़ने की आशंका है। नुकसान के बारे में पूछने पर एक टैंकर एसोसिएशन ने एक हथियार से नुकसान का दावा किया। वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ईरान को चेतावनी दी कि यदि वह कोई हिमाकत करता है तो उसे इसका भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा। ट्रम्प ने कहा कि हम देखेंगे कि ईरान के साथ क्या होता है। यदि वे कुछ करते हैं, तो यह उनकी भारी भूल होगी। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने जवाब देते हुए कहा कि 'किसी से भी डरना बहुत अच्छा है'। 

No comments:

Post a Comment

Pages