उज्‍जैन और ओंकारेश्‍वर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, दिनभर चला दान-पुण्‍य का दौर - .

Breaking

Saturday, 6 April 2019

उज्‍जैन और ओंकारेश्‍वर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, दिनभर चला दान-पुण्‍य का दौर

Chaitra Amavasya 2019 : उज्‍जैन और ओंकारेश्‍वर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, दिनभर चला दान-पुण्‍य का दौर

भूतड़ी अमावस्या पर शुक्रवार को केडी पैलेस स्थित 52 कुंड में स्नान के लिए देशभर से श्रद्धालु पहुंचे। प्रशासन ने यहां पहली बार स्नान के लिए फव्वारों का इंतजाम किया था। करीब 25 हजार आस्थावानों का जमावड़ा कुंड परिक्षेत्र में रहा। श्रद्धालु गुरुवार शाम से उज्जैन पहुंचने लगे थे। केडी पैलेस क्षेत्र में रात्रि विश्राम किया। सुबह होते ही स्नान शुरू हो गया था। बाहरी बाधा से पीड़ित लोगों को मुक्ति के लिए विशेष पूजा-अर्चना की गई। तांत्रिक पूजा अर्चना के बाद कुंड के समीप स्थित भैरव मंदिर में क्रिया करते देखे गए। मान्यता है यहां कुंड में स्नान और पूजा-अर्चना से प्रेत बाधा से मुक्ति मिलती है।
नीम और गुलर के पेड़ में सैकड़ों कीलें :- तंत्र क्रिया करने वाले बाबा कुंड के समीप स्थित नीम व गुलर के पेड़ में नीबू को कील से ठोक देते हैं। मान्यता है ऐसा करने से बाहरी बाधा पेड़ में रह जाती और व्यक्ति उनसे मुक्त हो जाता है।ढ़ें

राम घाट व सिद्धवट पर पितृकर्म :- अमावस्या पर मोक्षदायिनी शिप्रा के सिद्धवट व रामघाट पर भी स्नानार्थियों का तांता लगा रहा। सुबह से शाम तक दोनों घाटों पर करीब 15 हजार लोगों ने स्नान किया। पश्चात पितरों के निमित्त तर्पण-पिंड दान किया। भूतड़ी अमावस्या पर जो श्रद्धालु धाराजी स्नान करने गए हैं, वे शनिवार को उज्जैन लौटकर रामघाट पर स्नान करेंगे।

ओंकारेश्वर (खंडवा)। तीर्थनगरी में भूतड़ी अमावस्या पर करीब दो लाख श्रद्धालु पहुंचे। शुक्रवार को दिन भर नर्मदा स्नान और तांत्रिक क्रियाओं का दौर चलता रहा। श्रद्धालुओं से सभी मार्ग और बाजार पटे रहे। भीड़ अधिक होने से जेपी चौक पर बेरिकेड्स लगाकर श्रद्धालुओं को रोकना पड़ा। इससे मुख्य संगमघाट पर भीड़ कुछ कम हुई। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मुस्तैद रहे। घाटों पर सुरक्षा नावों के साथ गोताखोरों को तैनात किया गया है। शनिवार को भी श्रद्धालुओं की भीड़ रहेगी।

No comments:

Post a Comment

Pages