यहां लोगों को नगर निगम दे रहा 'स्वच्छ कार्ड', ऐसे मिल रहा फायदा - .

Breaking

Thursday, 18 April 2019

यहां लोगों को नगर निगम दे रहा 'स्वच्छ कार्ड', ऐसे मिल रहा फायदा

Swachh Bharat Mission: यहां लोगों को नगर निगम दे रहा 'स्वच्छ कार्ड', ऐसे मिल रहा फायदा

 स्वच्छता में बढ़-चढ़कर काम करने वाले और स्वच्छ भारत मिशन को आगे बढ़ाने में सहयोग करने वाले सक्रिय नागरिकों को नगर निगम ने 'स्वच्छ कार्ड' देने की शुरुआत की है। इस कार्ड के जरिए नागरिकों को विभिन्न व्यावसायिक संस्थानों पर डिस्काउंट मिल रहा है। निगम अब तक 74750 'स्वच्छ कार्ड' बांट चुका है और यह सिलसिला जारी है। उसका लक्ष्य शहर के कम से कम दो लाख लोगों को ये कार्ड वितरित करना है।
कार्ड देने का मूल मकसद लोगों को सफाई और स्वच्छ भारत अभियान में भागीदारी बढ़ाने के लिए जागरूक और प्रोत्साहित करना है। निगम की इस योजना से अब तक शहर के 1026 व्यावसायिक संस्थान जुड़ चुके हैं जिनमें मॉल-बाजारों के शोरूम, टॉकीज, रेस्त्रां, होटल, सैलून, मेडिकल और अन्य तरह की दुकानें शामिल हैं। निगम कार्डधारकों को हर महीने उनकी गतिविधियों के लिए कुछ पॉइंट देता है, जिसका इस्तेमाल वे किसी खरीदारी या किसी सेवा का उपभोग करते समय डिस्काउंट के रूप में कर सकते हैं। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने भी इंदौर नगर निगम की इस पहल की सराहना की है और दूसरे शहरी निकायों को ऐसे प्रयोगों को बढ़ावा देने को कहा है।
इस तरह से चुन रहे हैं सक्रिय नागरिक :- निगम के कंसल्टेंट अमित शर्मा ने बताया कि विभिन्न कॉलोनियों में होम कंपोस्टिंग करने वाले, उचित तरीके से वेस्ट सेग्रिगेशन (गीला-सूखा कचरा अलग-अलग करना) और स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ी गतिविधियां जैसे रैली, चर्चा या जागरूकता कार्यक्रम चलाने वाले लोगों को कार्ड का फायदा दिया जा रहा है। नगर निगम ऐप 'इंदौर 311' में लगातार सक्रियता दिखाने वाले नागरिकों को भी कार्ड दिए जा रहे हैं। ऐसे नागरिकों को प्राथमिकता दी जा रही है जो शहर में अलग-अलग इलाकों में घूमने के दौरान कचरा और गंदगी देखकर उसकी शिकायत एप पर दर्ज करते हैं।
सफाईकर्मियों को भी देने के आदेश :- हाल ही में निगम के अपर आयुक्त रजनीश कसेरा ने अफसरों को निर्देश दिए हैं कि सफाईकर्मियों को भी 'स्वच्छ कार्ड' बांटे जाएं। शहर में रोजाना सफाई की सबसे बड़ी जागरूकता तो निगम के 8500 कर्मी ही ला रहे हैं। आदेश के बाद निगम अपने सफाईकर्मियों के साथ डोर टू डोर कचरा कलेक्शन में लगे ड्राइवर और हेल्परों को भी कार्ड देने की तैयारी कर रहा है। निगमायुक्त आशीष सिंह के मुताबिक 'स्वच्छ कार्ड' ऐसे लोगों को दिए जा रहे हैं जो स्वच्छ भारत मिशन की दिशा में न केवल खुद काम कर रहे हैं बल्कि दूसरों को भी जागरूक कर रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages