इस गर्मी कैसे रखें अपनी गाड़ी का ध्यान, अपनाएं ये 7 टिप्स - .

Breaking

Saturday, 20 April 2019

इस गर्मी कैसे रखें अपनी गाड़ी का ध्यान, अपनाएं ये 7 टिप्स

इस गर्मी कैसे रखें अपनी गाड़ी का ध्यान, अपनाएं ये 7 टिप्स

गर्मियों की शुरुआत हो चुकी है और मई जून के महीने में पारा सबसे ज्यादा रहता है। इस समय घर से निकलने का मन भी नहीं करता और सफर के दौरान हर कोई AC वाली कार की सवारी करना पसंद करता है। जिस तरह से आप अपने आप को गर्मी से बचाते हैं, ठीक उसी तरह हमारी गाड़ी को भी गर्मियों में बेहतर रखरखाव की जरूरत होती है। आज हम आपको अपनी इस खबर में बताने जा रहे हैं ऐसी टिप्स के बारे में जिनकी मदद से आप अपनी कार या बाइक/स्कूटर की इस गर्मी देखभाल कर सकते हैं।
कार के शीशे पूरे बंद न करें :- जब भी आप अपनी कार पार्क करें तो इस बात को विशेष ध्यान रखें कि कार के शीशे पूरे बंद न हो, करीब आधा इंच या इससे थोड़ा कम नीचे करके रखें इससे सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि कार में हवा अन्दर-बाहर आती जाती रहेगी और गाड़ी ज्यादा गर्म नहीं होगी। ऐसा इसलिए क्योकिं सभी शीशे पूरी तरह से बंद होंगे तो कार में गैस बन सकती है जो नुकसानदायक साबित होगी।
AC का करें रख-रखाव :- चूंकि अब गर्मी का मौसम है तो कार के AC की सर्विस जरूर करा लें। अगर AC की कूलिंग बंद हो जाए तो इसका मतलब है कि AC की गैस खत्म हो गई तो आप उसे भरवा लें। AC के ट्यूब और वॉल्व को भी साफ करना जरूरी है। AC का सबसे अहम पार्ट उसका कंडेंसर होता है। वहीं बारिश के मौसम में जब AC से हवा कम आए तो समझ लें कि नमी के कारण अंदर बर्फ जम गई है और इसे सही करने के लिए तुरंत एसी बंद कर दें, लेकिन उसके ब्लोवर को चलते रहने दें। इससे इस समस्या का समाधान हो जाएगा।
कूलैंट की सही मात्रा :- गर्मी में गाड़ी जल्दी गर्म होती है ऐसे में कूलैंट काफी हद तक गाड़ी को ठंडा रखने में मदद करता है। इसलिए कार में कूलैंट की मात्रा एक दम सही रखें, खासतौर पर अगर आप लॉन्ग ड्राइव पर जा रहे हैं तो इसे जरूर चेक करें। यदि आपकी कार का कूलैंट सिस्टम ठीक प्रकार से काम नहीं करेगा तो आपकी कार ओवर हीट हो जाएगी और इससे इंजन के सीज होने का भी खतरा बना रहता है।
बैटरी का चेकअप भी है जरूरी :- ज्यादातर कार की बैटरियां मेंटेनेंस फ्री होती हैं इसलिए उनमें हर बार इलेक्ट्रोलाइट का स्तर चेक करने की जरूरत ही नहीं पड़ती। लेकिन जो बैट्री इस तरह की नहीं होती उसकी देखभाल भी बेहद जरूरी होती है और अक्सर लोग बैटरी की देखभाल करना भूल जाते हैं। ऐसे में आप बैट्री के ढक्कन खोल कर रेगुलर इलेक्ट्रोलाइट का स्तर चेक कर सकते हैं। अगर पानी कम है तो इसमें डिस्टिल्ड वाटर डालिए, न कि सामान्य टंकी का पानी। याद रखिए बैटरी में तीव्र अम्ल होता है, इसलिए चेक करते समय अतिरिक्त सावधानी जरूर बरतें।
ऑयल की करें जांच :- इंजन ऑयल सबसे महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इंजन की लाइफ ही ऑयल पर टिकी होती है इसलिए गाड़ी के तेल का स्तर कायम रखने के लिए समय-समय पर उसकी जांच करते रहें। जरूरत पड़ने पर इंजन ऑइल डलवा भी लें।
फ्यूल डलवाते समय बरतें सावधानी :- कार हो या बाइक कभी भी टैंक फुल नहीं करना चाहिए, हर गाड़ी में ऑटोकट ऑफ होता है, जिससे टैंक फुल नहीं होता, यानी जितना जरूरत है उतना ही फ्यूल डलेगा। कुछ लोग जबरदस्ती टैंक फुल कर लेते हैं जोकि की नुकसानदायक साबित हो सकता है आपकी गाड़ी के लिए।
हवा की नियमित जांच करें :- अगर कार के किसी पहिए में हवा कम है तो उसे चलाना खतरनाक है और इससे गाड़ी का माइलेज भी प्रभावित होगा। इसलिए पहियों की हवा जरूर जांच लें। किसी लंबी यात्रा से पहले या फिर सप्ताह में एक बार जरूर इसे चेक करवाएं। यह काम आप किसी भी सर्विस स्टेशन पर करवा सकते हैं। प्रेशर गेज ले लें, क्योंकि कई बार पंप के मीटर सही नहीं होते।

No comments:

Post a Comment

Pages