मार्च में जीएसटी का नया रिकॉर्ड, 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा कलेक्शन - .

Breaking

Tuesday, 2 April 2019

मार्च में जीएसटी का नया रिकॉर्ड, 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा कलेक्शन

GST Collection in March: मार्च में जीएसटी का नया रिकॉर्ड, 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा कलेक्शन

पिछले वित्त वर्ष के आखिरी महीने यानी मार्च, 2019 में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह ने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। आंकड़ों के मुताबिक मार्च में जीएसटी संग्रह 1,06,577 करोड़ रुपये रहा है जो अब तक का सर्वाधिक मासिक संग्रह है। इस वजह से बीते वित्त वर्ष के लिए जीएसटी संग्रह अपने संशोधित अनुमान से बेहतर रहा है।
खास बात यह है कि मार्च में 75.95 लाख रिटर्न दाखिल हुए जो अब तक किसी एक महीने में सर्वाधिक हैं। रिटर्न संख्या अधिक रहने का मतलब यह भी है कि जीएसटी का अनुपालन बेहतर हो रहा है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक ट्वीट कर कहा कि पिछले महीने के आखिर में यानी 31 मार्च को जीएसटी संग्रह रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। इससे मैन्युफैक्चरिंग और उपभोग बढ़ने का संकेत मिलता है। 

इस बीच वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 में औसत मासिक जीएसटी संग्रह 98,114 करोड़ रुपये रहा जो वित्त वर्ष 2017-18 की तुलना में 9.2 फीसद अधिक है। इन आंकड़ों से पता चलता है कि जीएसटी दरों को तर्कसंगत बनाने के लिए हाल में उठाए गए कई कदमों के बावजूद हाल के महीनों में राजस्व संग्रह में वृद्धि हुई है। पिछले महीने के जीएसटी संग्रह में 20,353 करोड़ रुपये सेंट्रल जीएसटी, 27,520 करोड़ रुपये स्टेट जीएसटी, 50,418 करोड़ रुपये इंटिग्रेटेड जीएसटी और 8,286 करोड़ रुपये सैस था।
गौरतलब है कि पहली जुलाई, 2017 से जीएसटी लागू होने से लेकर अब तक मार्च 2019 में जीएसटी संग्रह सर्वाधिक था। वित्त वर्ष 2018-19 में चौथी बार ऐसा हुआ है जब किसी महीने जीएसटी संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये के पार गया है। पिछले महीने में जीएसटी संग्रह की रकम पिछले साल मार्च महीने के 92,167 करोड़ रुपये के मुकाबले 15.6 फीसद अधिक है। वित्त वर्ष 2018-19 में जीएसटी संग्रह 11.77 लाख करोड़ रुपये रहा है। सरकार ने अंतरिम बजट में वित्त वर्ष 2018-19 के लिए संशोधित लक्ष्य 11.47 लाख करोड़ रुपये रखा था। वित्त वर्ष 2019-20 में सरकार ने जीएसटी संग्रह का लक्ष्य 13.71 लाख करोड़ रुपये रखा है।

No comments:

Post a Comment

Pages