Madhya Pradesh BJP में आधा दर्जन नेताओं को चाहिए परिजन के लिए टिकट - .

Breaking

Saturday, 16 March 2019

Madhya Pradesh BJP में आधा दर्जन नेताओं को चाहिए परिजन के लिए टिकट

Madhya Pradesh BJP में आधा दर्जन नेताओं को चाहिए परिजन के लिए टिकट

लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए भारतीय जनता पार्टी द्वारा बुलाई बैठक में परिवारवाद का मुद्दा ही हावी रहा। सारे दिग्गज नेताओं ने खुलकर अपने बेटेबेटी, भाई-भतीजे के नाम लोकसभा टिकट के लिए रखे और पार्टी कार्यालय में आकर सार्वजनिक बयान भी दिया कि किसान का बेटा किसानी करेगा तो राजनेता का बेटा क्या करेगा। क्या उसे भीख मांगना चाहिए। पार्टी ने सभी 29 संसदीय सीट के सभी जनप्रतिनिधियों और पार्टी पदाधिकारियों को इस बैठक में बुलाया था।
इन लोगों से बातचीत के लिए दिग्गजों के पांच समूह बनाए गए थे। जिन्होंने सभी के साथ पहले सामूहिक बातचीत की फिर अलगअलग राय जानी। रायशुमारी की तर्ज पर पार्टी नेताओं ने मौजूदा सांसद के बारे में फीडबैक लिया, साथ ही खुद को छोड़कर टिकट के तीन-तीन दावेदारों के नाम भी पूछे। पांच नेताओं के समूह में हुई बातचीत-बैठक में बुलाए गए लोकसभा प्रभारी, संयोजक, जिलाध्यक्ष सहित संसदीय क्षेत्र में रहने वाले भी प्रदेश पदाधिकारी, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, महापौर सहित सभी जनप्रतिनिधियों से इन समूह के नेताओं ने वन-टू-वन बातचीत भी की

शिवराज सिंह चौहान - ग्वालियर, भिण्ड, मुरैना और गुना-शिवपुरी
राकेश सिंह- सागर, दमोह, टीकमगढ़, रीवा, सीधी और सतना

नरेंद्र सिंह तोमर/गोपाल भार्गव - बालाघाट, जबलपुर, छिंदवाड़ा, मंडला, इंदौर, खंडवा, खरगोन, रतलाम-झाबुआ
सुहास भगत/नरोत्तम मिश्रा- भोपाल, राजगढ़, विदिशा, होशंगाबाद, बैतूल

कैलाश विजयवर्गीय/प्रभात झा - शहडोल, मंदसौर, उज्जैन, देवास
अब तैयार होगा पैनल : शक्रवार को ही पार्टी की प्रदेश चुनाव समिति की बैठक भी हुई। इसमें तय किया गया कि सर्वे में आए नाम और समूहों में आए नाम के आधार पर पैनल तैयार कर लिए जाएं। जिन्हें अंतिम फैसले के लिए केंद्र को भेजा जाएगा। अधिकारी का बेटा सरकारी नौकरी करता है, सेठ का बेटा व्यापार करता है तो राजनेता के बेटे को क्या भीख मांगना चाहिए। उन्होंने कहा कि नेता के जो लायक बेटा-बेटी होंगे, उन्हें टिकट मिलेगा। भार्गव के पुत्र अभिषेक भार्गव दमोह लोकसभा सीट से दावेदार हैं।
लोकसभा चुनाव तो भाजपा ही जीतेगी : राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि इस बार सभी 29 सीटों का टारगेट सेट किया है। गुना और छिंदवाड़ा पर भी मजबूत दावेदारी होगी और दोनों सीटें जीतकर आएंगे। नेताओं के बेटा-बेटी को टिकट देने का फैसला पार्टी को करना है।

प्रहलाद के समर्थन में पहुंचे जालम :-  विधायक जालम सिंह अपने भाई दमोह सांसद प्रहलाद पटेल को किसी सुरक्षित सीट से सांसद निर्वाचित होते हुए देखना चाहते हैं, यही कारण है कि जालम भाजपा की बैठक में अपने भाई को होशंगाबाद शिफ्ट करने की बात रखने पहुंचे।
बिसेन ने मांगा बेटी मौसम का टिकट :- पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने अपनी बेटी मौसम के लिए टिकट मांगा। 2014 के चुनाव में भी मौसम का नाम सामने आया था, लेकिन पार्टी ने फिर बोधसिंह भगत को टिकट दे दिया था। इस बार फिर मौसम का नाम सामने है इसलिए दावा किया है।
शर्मा ने भाई-भतीजे के लिए मांगी टिकट :- होशंगाबाद लोकसभा क्षेत्र से पूर्व स्पीकर सीतासरन अपने भाई गिरजाशंकर और पीयूष शर्मा को लेकर पहुचे और बड़े नेताओ के सामने बात रखी। शर्मा ने कहा मैंने अपने दोनों नाम पार्टी संगठन को बता दिए हैं, पार्टी को फैसला करना है।

No comments:

Post a Comment

Pages