गैस टंकी से भड़की आग, वन ग्राम आंवलिया नागोतार में15 मकान जले - .

Breaking

Tuesday, 5 March 2019

गैस टंकी से भड़की आग, वन ग्राम आंवलिया नागोतार में15 मकान जले

Khandwa : गैस टंकी से भड़की आग, वन ग्राम आंवलिया नागोतार में15 मकान जले

वन ग्राम आंवलिया नागोतार में रसोई गैस की टंकी फूटने पर भड़की आग से कच्चे- पक्के 15 से अधिक मकान जल गए। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका लेकिन तब तक आदिवासी परिवारों का सब कुछ खाक हो गया। न तो राशन बचा और नहीं सिर छिपाने के लिए छत। एक मवेशी की मौत हो गई।
सूचना मिलते ही पुलिस, राजस्व और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने पहुंच कर मोर्चा संभाला। कलेक्टर विशेष गढ़पाले और एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा की मौजूदगी में प्रशासनिक अमला आग बुझाने में जुटा रहा। पंचनामा कार्रवाई कर प्रभावित परिवारों को खाद्यान्न् और संभावित आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए है। मंगलवार दोपहर करीब डेढ़ बजे मोतीलाल कोरकू के मकान में गैस सिलेंडर फटा। मकान कच्चा होने से भड़की आग ने देखते ही देखते सटे हुए मकानों को चपेट में ले लिया। इससे गांव में अफरातफरी मच गई। आग लगने से कपड़े, अनाज, बिस्तर, नकदी राशि और जरूरी दस्तावेज स्वाहा हो गए।
ग्रामीणों ने मौजूदा संसाधनों से आग को काबू करने का प्रयास किया। पुलिस और प्रशासन को सूचना देने के साथ ही आसपास के गांवों से पानी के टैंकर बुलाकर आग को फैलने से रोका गया। मकान एक दूसरे से सटे होने से आग को आगे बढ़ने से रोकने के लिए बीच के मकानों को तोड़ने के बाद आग काबू हो सकी। खंडवा से फायर फायटर करीब दो घंटे बाद मौके पर पहुंचा। पीड़ित परिवारों को तात्कालिक राहत के लिए खाद्यान्न् उपलब्ध कराने के लिए खाद्य अधिकारी को निर्देशित किया गया है।
प्रभावित परिवारों को अधिकतम संभावित सहायता दिलाने के लिए प्रकरण तैयार करने के निर्देश कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने राजस्व अधिकारियों को दिए हैं। प्रभावित परिवार को 50 किलो अनाज और केरोसिन की व्यवस्था के साथ ही भोजन का प्रबंध किया गया है।

No comments:

Post a Comment

Pages