फिर चली बर्फीली हवा, तीन दिन बाद बौछारें पड़ने के भी आसार - .

Breaking

Saturday, 2 February 2019

फिर चली बर्फीली हवा, तीन दिन बाद बौछारें पड़ने के भी आसार

फिर चली बर्फीली हवा, तीन दिन बाद बौछारें पड़ने के भी आसार

पश्चिमी राजस्थान पर बने प्रेरित चक्रवात के समाप्त होने के कारण हवाओं का रुख बदलकर उत्तर-पूर्वी हो गया है। जिसके चलते वातावरण में एक बार फिर सिहरन बढ़ गई है। साथ ही प्रदेश के विभिन्न स्थानों में शनिवार को दिन के तापमान में गिरावट भी दर्ज की गई। इसी क्रम में राजधानी में शनिवार को अधिकतम तापमान 25.6 डिग्री से. दर्ज किया गया,जो कि शुक्रवार के अधिकतम तापमान (29.2) के मुकाबले 3.6 कम रहा। मौसम विज्ञानियों ने तीन दिन बाद प्रदेश के उत्तरी क्षेत्र में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है।
मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होते ही दो दिन पहले पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया था। जिसके चलते हवा का रुख उत्तरी से बदलकर दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी हो गया था। इससे वातावरण में नमी बढ़ने से बादल छा गए थे। दिन और रात के तापमान में इजाफा होने लगा था और ठंड से राहत मिल गई थी। लेकिन शुक्रवार शाम को राजस्थान पर बना सिस्टम समाप्त हो गया। जिसके चलते हवाओं को रुख एक बार फिर उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हो गया है। इससे दिन-रात के तापमान में फिर गिरावट का सिलसिला शुरु हो गया है।

मौसम विज्ञानी एचएस पांडे ने बताया कि हाल ही में उत्तर भारत में जबरदस्त बर्फबारी हुई है। इस वजह से उत्तर भारत की तरफ से आ रही सर्द हवाएं सिहरन बढ़ा रही हैं। पांडे ने बताया कि एक और पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत की तरफ बढ़ रहा है। इस सिस्टम के कारण 6-7 फरवरी को मौसम का मिजाज फिर बदलने की संभावना है। इस सिस्टम के कारण प्रदेश के उत्तरी भाग में स्थित क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं। इस दौरान राजधानी में भी बादल छा सकते हैं। मौसम साफ होने के बाद ठंड का एक और दौर शुरू हो सकता है।

No comments:

Post a Comment

Pages