शाओमी ने पेश किया 48 हज़ार रुपये का 5जी स्मार्टफोन, इस साल मई में बाजार में आएगा - .

Breaking

Sunday, 24 February 2019

शाओमी ने पेश किया 48 हज़ार रुपये का 5जी स्मार्टफोन, इस साल मई में बाजार में आएगा

शाओमी ने पेश किया 48 हज़ार रुपये का 5जी स्मार्टफोन, इस साल मई में बाजार में आएगा

शाओमी ने रविवार को 5जी स्मार्टफोन पेश किया, जो प्रतिस्पर्धी कंपनी सैमसंग और हुआवे के 5जी स्मार्टफोन के मुकाबले बेहद सस्ता है। शाओमी के ग्लोबल हेड ऑफ प्रोडक्ट्स डोनोवन सुंग ने मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस से एक दिन पहले एक कार्यक्रम में इसके अनावरण के दौरान कहा कि यह स्मार्टफोन मई में बाजार में आएगा और उस वक्त इसकी कीमत करीब 48,000 रुपये (679.33 डॉलर) से शुरू होगी। सैमसंग ने भी गत बुधवार को अपना 5जी फोन पेश किया था। उसने कहा था कि उसका फोन गर्मी के मौसम के शुरू में बाजार में आएगा और उसकी शुरुआती कीमत करीब 1,40,000 रुपये (1,980 डॉलर) होगी।

हुआवे ने दिखाया 1,85,000 रुपये का फोल्डिंग 5जी फोन :- हुआवे टेक्नोलॉजीज ने रविवार को करीब 1,85,000 रुपये (2,607 डॉलर) का फोल्डिंग 5जी स्मार्टफोन 'मेट एक्स' पेश किया। हुआवे के कंज्यूमर बिजनेस ग्रुप के प्रमुख रिचर्ड यू ने दावा किया कि अब तक पेश हुए समस्त 5जी फोन में इसकी स्पीड सबसे ज्यादा है। यह फोल्डिंग फोन खुलने के बाद आठ इंच के डिस्प्ले वाला टैबलेट बन जाता है। इस साल के आखिर तक बाजार में आने वाला यह फोन एक गीगाबाइट की मूवी को सिर्फ तीन सेकेंड में डाउनलोड कर सकता है।  

भारत 10 साल में दूसरा सबसे बड़ा 5जी बाजार :- टेलीकॉम उपकरण बनाने वाली चीन की कंपनी हुआवे ने रविवार को कहा कि 10 साल में भारत दूसरा सबसे बड़ा 5जी बाजार बन जाएगा। हुआवे टेक्नोलॉजीज में साउदर्न-ईस्ट एशिया रीजन के प्रेसिडेंट जेम्स वू ने कहा कि लंबी अवधि के नजरिये से भारत का 5जी बाजार अत्यधिक विशाल होगा और यह चीन के बाद दूसरे स्थान पर होगा। अंतरराष्ट्रीय टेलीकॉम उद्योग संगठन जीएसएम एसोसिएशन ने कहा है कि 2025 तक पूरी दुनिया में 1.4 अरब 5जी कनेक्शन होंगे, जो कुल बाजार का करीब 15 फीसद होगा। उस वक्त अमेरिका में करीब आधे कनेक्शंस 5जी के होंगे। इसी तरह चीन में यह 30 फीसद और भारत में यह 5 फीसद होगा। वू ने कहा कि उद्योग के लिहाज से भारत दूसरा सबसे बड़ा बाजार होगा। कंपनी ने भारत में 5जी टेस्ट लैब स्थापित करने की भी इच्छा जताई।
डाटा का मुक्त प्रवाह चाहता है जीएसएमए :- अंतरराष्ट्रीय टेलीकॉम उद्योग संगठन जीएसएमए ने कहा कि भारत और अन्य देशों में डाटा सुरक्षा के लिए बनाई जा रही व्यवस्था अच्छी बात है, लेकिन सरकारों को डाटा का मुक्त प्रवाह भी सुनिश्चित करना चाहिए और सूचना के टापुओं का निर्माण नहीं होने देना चाहिए। जीएसएमए के महानिदेशक मैट्स ग्रैनरीड ने एक साक्षात्कार में कहा कि डाटा सुरक्षा की व्यवस्था अच्छी बात है, क्योंकि हर चीज कनेक्टेड होने होने से हम समाज को प्रभावित कर रहे हैं। कुछ साल में सेलफोन से एक अरब से अधिक चीजें इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आइओटी) के जरिये जुड़ जाएंगी। सेलफोन के अलावा भी हमारे पास 20 अरब कनेक्शंस होंगे। जीएसएमए की एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक 2025 तक 25 अरब आइओटी कनेक्शंस होंगे।

No comments:

Post a Comment

Pages