कहीं आप भी ऐसे तो चार्ज नहीं करते अपना मोबाइल, तुरंत बदल लें आदत - .

Breaking

Thursday, 3 January 2019

कहीं आप भी ऐसे तो चार्ज नहीं करते अपना मोबाइल, तुरंत बदल लें आदत

कहीं आप भी ऐसे तो चार्ज नहीं करते अपना मोबाइल, तुरंत बदल लें आदत

पिछले दिनों राजस्थान से खबर आई थी कि एक शक्स अपना मोबाइल फोन रात में जेब में रखकर सोया और फिर फोन में ब्लास्ट होने से उसकी मौत हो गई। मोबाइल आज बहुत काम की चीज हो गई है, लेकिन किसी को भी इससे जुड़ी सावधानी की आम बातें नहीं भूलना चाहिए। खासतौर पर चार्जिंग के समय कोई लापरवाह न बरतें। जानिए इससे जुड़ी अहम बातें-
  1. मोबाइल फोन को कभी तकिये के नीचे रखकर न सोएं। चार्ज करते समय भी मोबाइल को बिस्तर या कपड़ों के पास न रखें।

  2. मोबाइल को कभी भी अपने शर्ट की जेब में या सीने के पास न रखें। इससे रेडिएशन का खतरा तो रहता ही है, लेकिन मोबाइल ब्लास्ट की स्थिति में व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

  3. मोबाइल को रातभर कभी चार्ज न करें। कभी भी डुप्लिटेक या लोकल चार्जर का उपयोग न करें। हमेशा जिस कंपनी का फोन है, उसकी कंपनी द्वारा मुहैया किए जाने वाला चार्जर यूज करें।

  4. मोबाइल चार्ज करते समय किसी तरह के एडोप्टर का उपयोग न करें। मोबाइल चार्ज करते समय उसे धूप में रखें। चार्ज करते समय मोबाइल को केस या कवर से बाहर निकाल दें।
  5. यदि मोबाइल गर्म हो रहा है तो उसका उपयोग न करें। फोन में कोई खराबी आए तो लोकल शॉप पर न सुधरवाएं।
  6. मोबाइल चार्ज करते समय उस पर कोई दूसरी चीज या दबाव न डालें। जहां तक संभव हो कार के मोबाइल चार्जिंग एडॉप्टर का उपयोग करने से बचें।
  7. सस्ते पॉवर बैंक से बचें। हमेशा ब्रांडेड कंपनी का पॉवर बैंक ही खरीदें।
जानिए क्या हुआ था राजस्थान में :- मोबाइल फोन के साथ लापरवाही बहुत भारी पड़ सकती है। राजस्थान के उदयपुर में ऐसा ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, उदयपुर के पास नटवलगढ़ गांव में 60 साल के किशोर सिंह की मोबाइल ब्लास्ट से मौत हो गई। किशोर अपने शर्ट की जेब में मोबाइल रखते थे। घटना वाली रात वे सोते समय जेब से मोबाइल निकालना भूल गए।सोने से मोबाइल दबता रहा और गर्म हो गया। देर रात करीब 2.30 बजे वे टॉयलेट जाने के उठे और जैसे ही लौटे, मोबाइल में ब्लास्ट हो गया। धमाके से उनके कपड़ों में आग लग गई।
पास के कमरे में सोए परिजन कुछ समझ पाते इससे पहले किशोर का शरीर का ज्यादातर हिस्सा जल चुका था। उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। परिजन ने पुलिस को बताया कि किशोर ने कुछ दिन पहले ही सरकारी योजना के तहत 1100 रुपए चुकाकर मोबाइल कनेक्शन लिया था। बहरहाल, पोस्टमार्टम के बाद बॉडी परिजन के हवाले कर दी गई है। कोतवाली पुलिस थाने में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

Pages