सतना, रीवा,सीधी, सिंगरौली, सिवनी में बारिश के साथ ओले, देखें तस्‍वीरें - .

Breaking

Thursday, 24 January 2019

सतना, रीवा,सीधी, सिंगरौली, सिवनी में बारिश के साथ ओले, देखें तस्‍वीरें

MP Weather : सतना, रीवा,सीधी, सिंगरौली, सिवनी में बारिश के साथ ओले, देखें तस्‍वीरें

गुरुवार दोपहर 3 बजे बाद प्रदेश में कई स्‍थानों पर मौसम बदल गया है। महाकोशल एवं विंध्‍य इलाके में बारिश हुई है। सतना,रीवा,सीधी, सिंगरौली,सिवनी के अलावा अन्य जिलों में बारिश ओले गिरे हैं। मौसम में आए बदलाव से गुरुवार दोपहर बैतूल जिले में कई जगह ओले गिरे। कुछ देर बारिश भी हुई। इससे माहौल में ठंडक घुल गई। जिले के बयावाड़ी, गौला, सोनारखापा सहित आसपास के गांवों में तीन से पांच मिनट तक ओले गिरे। एक-दो गांवों में बेर के आकार के ओले गिरने की बात सामने आई है। जिला मुख्यालय पर भी दोपहर करीब तीन बजे बारिश हुई।
इधर, भोपाल के आसपास के जिलों में बादल छाए रहे। होशंगाबाद, हरदा, विदिशा, रायसेन  उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में एक चक्रवाती संचलन ने क्षेत्र में अस्थिरता को प्रेरित किया है, जिससे भारत के मध्य और पूर्वी भागों में मध्यम से भारी वर्षा, गरज और ओलावृष्टि हुई है। इसके बाद बादलों की आवाजाही बनी रही। सर्द हवा चलती रहने से मौसम ठंडा बना रहा। सीहोर और राजगढ़ में मौसम खुश्क रहा। सिवनी मुख्यालय में दोपहर 12.30 बजे रिमझिम बारिश के बाद शाम 4 बजे से 20 मिनट तक जोरदार बारिश हुई इस बीच दो मिनट तक चने के आकार के ओले गिरे। अचानक हुई बारिश और ओलावृष्टि से गेहूं, चना, मटर के साथ मैथी, हरी धनिया, पालक, सेमी की फसल को खासा नुकसान हुआ है।
सिवनी मुख्यालय के साथ आसपास के इलाकों में तेज बारिश के साथ् ओले गिरे। जिले के कान्हीवाड़ा क्षेत्र में करीब 15 मिनट तक बारिश के साथ ओले गिरे। केवलारी क्षेत्र के जेवनारा व आसपास के गांवों में करीब आधे घंटे ओलावृष्टि हुई। इसके अलावा बंडोल क्षेत्र के एक दर्जन गांवों और कान्हीवाड़ा क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में 5 से 10 मिनट बेर के आकार के ओले गिरे।
फसलों के साथ्ा-साथ धान खरीदी केंद्रों में खुले में बिना सुरक्षा के रखी हजारों क्विंटल धान भीग गई। इससे किसानों को नुकसान हो सकता है। जिले के छपारा, लखनादौन क्षेत्र में रुक-रुककर बारिश हुई। छपारा, लखनादौन में बारिश को फसलों के लिए लाभ्ादायक बताया जा रहा है। बारिश और ओले गिरने से चली शीत लहर के कारण फिर से ठिठुरन भरी बढ़ गई है।

No comments:

Post a Comment

Pages