दिल्ली के शेल्टर होम में बच्चियों से हैवानियत, शुरू हुई जांच - .

Breaking

Saturday, 29 December 2018

दिल्ली के शेल्टर होम में बच्चियों से हैवानियत, शुरू हुई जांच

दिल्ली के शेल्टर होम में बच्चियों से हैवानियत, शुरू हुई जांच

दिल्ली के द्वारका स्थित एक शेल्टर होम में अनुशासन के नाम पर मासूम बच्चियों से हैवानियत का गंदा खेल चल रहा था। यहां यातना व अमानवीयता की हद तो तब हो गई जब काम नहीं करने पर बच्चियों को मिर्च खिलाने के साथ ही उनके निजी अंगों में भी डाल दी गई। 27 दिसंबर को निरीक्षण के लिए महिला आयोग की समिति की सदस्य जब शेल्टर होम में पहुंचीं तो बच्चियों ने अपना दर्द बयां किया। समिति की शिकायत पर पुलिस ने पोक्सो व जेजे एक्ट के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। फिलहाल इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

दिल्ली सरकार की सलाह पर दिल्ली महिला आयोग ने एक समिति का गठन किया है। समिति को दिल्ली के सरकारी और निजी शेल्टर होम की जांच कर इनमें सुधार के लिए सलाह देने को कहा गया है। दर्ज शिकायत के मुताबिक 27 दिसंबर को समिति की सदस्यों ने द्वारका स्थित एक शेल्टर होम का दौरा किया था। समिति ने शेल्टर होम में रहने वाली अलग-अलग उम्र समूह, जिनमें छह से नौ वर्ष, दस से 13 वर्ष व 13 से 15 वर्ष की बच्चियों से अकेले में बात की तो उन्होंने उत्पीड़न की कहानी बताई। बड़ी उम्र की लड़कियों ने बताया कि शेल्टर होम में उनसे सारे घरेलू काम करवाए जाते हैं। स्टाफ की समुचित व्यवस्था नहीं होने की वजह से बड़ी लड़कियों को छोटी बच्चियों की देखभाल करनी पड़ती है। यही नहीं मामूली बात पर बच्चियों को कड़ी सजा दी जाती है।

अनुशासन के नाम पर उन्हें जबर्दस्ती मिर्ची खिलाने से लेकर निजी अंगों में मिर्ची डालने तक का अमानवीय कृत्य किया जा रहा है। साफ-सफाई नहीं करने पर उन्हें बुरी तरह से पीटा जाता है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी बच्चियों के बयान कोर्ट में दर्ज कराए गए हैं। मामले की तहकीकात चल रही है।

No comments:

Post a comment

Pages