इंडियन ऑयल ने किया बॉयबैक और डिविडेंड का ऐलान, भरेगी सरकारी की झोली - .

Breaking

Thursday, 13 December 2018

इंडियन ऑयल ने किया बॉयबैक और डिविडेंड का ऐलान, भरेगी सरकारी की झोली

इंडियन ऑयल ने किया बॉयबैक और डिविडेंड का ऐलान, भरेगी सरकारी की झोली

इंडियन ऑयल (आईओसी) के बोर्ड ने गुरुवार को 4,435 करोड़ रुपये शेयर बॉयबैक को मंजूरी दे दी। देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी ने 29.76 करोड़ शेयरों के बॉयबैक की मंजूरी दी है। स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी के मुताबिक कंपनी ने प्रति शेयर 149 रुपये की कीमत पर बॉयबैक को मंजूरी दी है, जो गुरुवार को हुए बंद भाव के मुकाबले 8.6 फीसद अधिक है। कंपनी का शेयर 0.5 फीसद की उछाल के साथ 137.20 रुपये पर बंद हुआ।
कंपनी में सरकार की 54.06 फीसदी हिस्सेदारी है और माना जा रहा है कि वह इस बॉयबैक में हिस्सा लेगी। सरकार को कोल इंडिया, बीएचईएल और ऑयल इंडिया जैसी सरकारी कंपनियों के बॉयबैक से करीब 5,000 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। इंडियन ऑयल के अलावा करीब आधे दर्जन से अधिक कंपनियां बॉयबैक की घोषणा कर चुकी हैं। इनमें एनएचपीसी, बीएचईएल, नाल्को, एनएलसी, कोचिन शिपयार्ड और के आईओसीएल शामिल हैं। सरकार के इन सभी बॉयबैक में शामिल होने की उम्मीद है। आईओसी ने कहा कि कंपनी के निदेशक मंडल ने प्रति शेयर 6.75 रुपये के लाभांश का भी ऐलान किया है। टैक्स को छोड़कर लाभांश के मद में कुल 6,556 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा, जिसमें से सरकार को 3,544 करोड़ रुपये मिलेंगे।
लाभांश की राशि शेयरधारकों के खाते में 31 दिसंबर के पहले तक भेज दी जाएंगी। पिछले महीने ऑयल इंडिया 1,085 करोड़ रुपये बॉयबैक का ऐलान कर चुकी है। गौरतलब है कि सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान 80,000 करोड़ रुपये का विनिवेश लक्ष्य रखा है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार ने उन सभी केंद्रीय उपक्रमों के लिए शेयर बॉयबैक को अनिवार्य कर दिया है, जिनका नेटवर्थ कम से कम 2000 करोड़ रुपये और कैश बैलेंस 1,000 करोड़ रुपये है। 80,000 करोड़ रुपये के विनिवेश लक्ष्य में सरकार को अभी तक मात्र 15,000 करोड़ रुपये ही मिले हैं। 

No comments:

Post a comment

Pages