सतनामी गुरु बालदास हुए कांग्रेसी, भाजपा की बढ़ी चिंता - .

Breaking

Tuesday, 6 November 2018

सतनामी गुरु बालदास हुए कांग्रेसी, भाजपा की बढ़ी चिंता

CG : सतनामी गुरु बालदास हुए कांग्रेसी, भाजपा की बढ़ी चिंता

भंडारपुरी के सतनामी समाज के गुरु बालदास साहेब और उनके पुत्र सुखवंत साहेब मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। बालदास का 10 से अधिक विधानसभा सीटों पर सीधे प्रभाव है।  पिछले चुनाव में उन्होंने अपने उम्मीदवार भी उतारे थे, जिसकी वजह से कांग्रेस को नुकसान और भाजपा को फायदा हुआ था। कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को हार का सामना करना पड़ा था, जबकि भाजपा एससी आरक्षित सीटों पर एकतरफा जीत गई थीा। अब बालदास के कांग्रेस में आने से भाजपा की चिंता बढ़ गई है।

बालदास को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का काफी करीबी माना जाता रहा है। इस कारण उनका आना कांग्रेस के लिए बड़ी सफलता माना जा रहा है। बालदास का एससी आरक्षित सारंगढ़, मुंगेली, मस्तूरी, पामगढ़, सरायपाली, बिलाईगढ़, आरंग, अहिवारा, नवागढ़, डोंगरगढ़ सीट पर असर है। 2013 में उन्होंने सतनाम सेना के प्रत्याशी उतारे थे, जिसकी वजह से कांग्रेस केवल मस्तूरी में जीती थी और भाजपा का नौ सीटों पर कब्जा हुआ था।
इसके अलावा सतनाम सेना के प्रत्याशियों ने दर्जनभर और सीटों पर कांग्रेस का वोट काटा था। इस कारण कांग्रेस के वरिष्ठ नेता साजा से रविंद्र चौबे, कवर्धा से मोहम्मद अकबर, राजिम से अमितेश शुक्ल, लोरमी से धर्मजीत सिंह चुनाव हार गए थे। सतनामी समाज के एक और गुरु रुद्र कुमार पहले से कांग्रेस में है। कांग्रेस ने उन्हें अहिवारा सीट से प्रत्याशी भी बनाया है। 

जोगी के लिए कहा-अतिक्रमण गलत है :- बालदास ने कहा कि सतनामी समाज में गुरु ही प्रधान होता है। अजीत जोगी या कोई भी व्यक्ति अतिक्रमण कर बोले कि मैं मुखिया हूं, तो यह गलत है।

भाजपा ने उपयोग किया :- बालदास ने पत्रकारवार्ता में कहा कि भाजपा ने केवल सरकार बनाने के लिए सतनामी समाज का उपयोग किया था। सरकार बनाने के बाद सतनामी समाज और एससी विधायकों का सम्मान नहीं किया। जातिभेद बनाकर रखा। इससे दुख हुआ, इसलिए सतनामी समाज परिवर्तन चाहता है। 

पिछले चुनाव में हेलीकॉप्टर से घूमे थे :- पिछले चुनाव में बालदास ने हेलीकॉप्टर से दौरा किया था। अब बालदास ने कहा कि उनके पास सतनाम सेना है, जो कांग्रेस के प्रचार के लिए पर्याप्त है। हेलीकॉप्टर तो जितना चाहें, घर में बांधकर रख सकते हैं।

जकांछ महासचिव भी कांग्रेस में :- जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश महासचिव सूरज निर्मलकर ने ऐन चुनाव के समय अपनी पार्टी को तगड़ा झटका दिया है। निर्मलकर ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है। निर्मलकर पहले भी कांग्रेस में थे। जोगी के पार्टी बनाने के बाद वह उनके साथ चले गए थे।

No comments:

Post a comment

Pages