चुरहट सीट पर अजय सिंह को हराने के लिए भाजपा तलाश रही चेहरा - .

Breaking

Wednesday, 3 October 2018

चुरहट सीट पर अजय सिंह को हराने के लिए भाजपा तलाश रही चेहरा

MP : चुरहट सीट पर अजय सिंह को हराने के लिए भाजपा तलाश रही चेहरा

चुरहट विधानसभा क्षेत्र कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है। भाजपा इस सीट को जीतने के लिए क्षत्रिय व ब्राह्मण प्रत्याशी को टिकट देकर किस्मत आजमा चुकी है लेकिन जीत नहीं मिली। चुरहट विधानसभा क्षेत्र में भाजपा अंतरकलह से जूझ रही है। इसका नजीता रहा कि वर्ष 2008 में अजय सिंह राहुल ने भाजपा प्रत्याशी व वर्तमान राज्यसभा सांसद अजय प्रताप सिंह को करीब 10 हजार वोट से हराया था। वहीं 2013 में अजय सिंह ने भाजपा प्रत्याशी शरदेन्दु तिवारी को करीब 19 हजार वोट से हराया था। इस चुनाव में भाजपा की लहर का भी चुरहट विधानसभा क्षेत्र में कोई खास असर देखने को नहीं मिला।
भाजपा ने अजय प्रताप सिंह को राज्यसभा सांसद बनाकर उनका कद बढ़ाया है। माना जा रहा है कि भाजपा उन्हें चुनाव मैदान में उतारकर अजय सिंह राहुल को घेर सकती है। हालांकि पूर्व प्रत्याशी शरदेन्दु तिवारी, पूर्व सासंद गोविन्द मिश्रा और युवा चेहरों में ज्ञानेन्द्र अग्निहोत्री की भी प्रमुख दावेदारी मानी जा रही है। अब तक किसी कांग्रेस नेता ने यहां से दावेदारी पेश नहीं की है।
भाजपा के लिए चुनौती :- नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल को हराने के लिए भाजपा कोई कोताही नहीं बरतना चाहती है। पुराने चेहरों के बीच भाजपा किसी नए प्रत्याशी को मैदान में उतारकर भाजपा अजय सिंह राहुल को विंध्य सीट तक सीमित करने का प्रयास कर सकती है। चुरहट में भाजपा के साथ आरएसएस ने भी गांव-गांव काम कर नए कार्यकर्ताओं और समर्थकों को जोड़ा है।
वे सब केन्द्र की मोदी सरकार और शिवराज सरकार की योजनाओं का लाभ घर-घर दिलाकर मतदाताओं को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं। जिले में मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान चुरहट विधानसभा क्षेत्र में शिवराज सिंह चौहान का विरोध का हुआ था। इसके बाद मुख्यमंत्री ने चुरहट में अजय सिंह राहुल पर सीधा निशाना साधा था। ऐसे में भाजपा इस बार दमदार प्रत्याशी को चुनावी मैदान में उतारेगी ताकि नेता प्रतिपक्ष को हराया जा सके।

No comments:

Post a Comment

Pages