देवगुरु बृहस्पति करेंगे राशि परिवर्तन, ये पड़ेगा आप पर असर - .

Breaking

Monday, 8 October 2018

देवगुरु बृहस्पति करेंगे राशि परिवर्तन, ये पड़ेगा आप पर असर

देवगुरु बृहस्पति करेंगे राशि परिवर्तन, ये पड़ेगा आप पर असर

पंचागीय गणना के अनुसार बृहस्पति 11 अक्टूबर को राशि परिवर्तन कर रहे हैं। शाम 7.23 बजे बृहस्पति तुला राशि को छोड़कर वृश्चिक में प्रवेश करेंगे। ज्योतिषियों के अनुसार देवगुरु के राशि परिवर्तन से आमजन को राहत मिलेगी। सुस्त पड़े बाजार में गति आने से व्यापार चमकेगा। सोने की खरीदारी बढ़ेगी। बैंकों की स्थिति में सुधार नजर आएगा। रुपए का मूल्य अपनी प्रतिष्ठा को प्राप्त करेगा। विभिन्न राशि के जातकों के लिए भी आने वाला समय प्रगतिकारी रहेगा।
ज्योतिषाचार्य पं.अमर डब्बावाला ने बताया देवगुरु तुला राशि को छोड़कर वृश्चिक राशि में विशाखा नक्षत्र के चौथे चरण में प्रवेश करेंगे। वृश्चिक राशि बृहस्पति के मित्र मंगल की राशि है। इस राशि से गुरु का समकारक संबंध है। प्रवेश काल के समय तात्कालिक मित्र की दृष्टि से देखें तो गुरु का राशि परिवर्तन शुभ है। क्योंकि बृहस्पति की 5, 7 व 9 तीन दृष्टि मानी जाती है। राशि परिवर्तन के बाद वे 5वीं दृष्टि से स्वयं की राशि मीन को देखेंगे। 7वीं दृष्टि से वृषभ तथा 9वीं दृष्टि से कर्क राशि स्थित राहु को देखेंगे। यह तीनों दृष्टियां धर्म की वृद्घि, बाजार की स्थिति में सुधार तथा राजनीतिक परिवर्तन का संकेत करेंगी। हालांकि तीनों दृष्टियों का क्षेत्रीय स्तर पर अलग प्रभाव दिखेगा।

इन क्षेत्रों में नजर आएंगे यह प्रभाव
- धर्म का प्रचार प्रसार बढ़ेगा। लोगों में धार्मिक भावना जागृत होगी। धर्मस्थलों की स्थिति सुदृढ़ होगी।

- समाज में प्राचीन पद्घतियों को महत्व मिलेगा। व्यक्ति अपनी उन्नति के लिए धार्मिकता की ओर बढ़ेगा।
- बाजार में व्यापार की गति बढ़ेगी। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। लोग नए रोजगार की ओर अग्रसर होंगे।

- राजनीति में गुरु की दृष्टि से धार्मिक दलों को लाभ होगा। राजनीतिज्ञ धर्म की शरण में जाएंगे।
इन राशि के जातकों को यह लाभ

- मेष : व्यवसाय के साथ धन आगमन की गति बढ़ेगी।
- वृषभ : मित्र तथा परिवार का सहयोग मिलेगा।

- मिथुन : आत्मविश्लेषण करेंगे। स्थिति में सुधार होगा।
- कर्क : मानसिक शांति मिलेगी। आत्मविश्वास बढ़ेगा।
- सिंह : रुके कार्य में गति आएगी। नए कार्य की शुरुआत होगी।
-कन्या : व्यावसायिक स्रोत बढ़ेंगे तथा लाभ होगा।
- तुला : मानसिक कष्ट समाप्त होंगे। नई शुरुआत होगी।
- वृश्चिक : मांगलिक कार्य संपन्न होंगे।
- धनु : धार्मिक कार्यों की रूपरेखा बनेगी। निवेश होगा।
- मकर : विदेश यात्रा से लाभ मिलेगा।
- कुंभ : कार्य के संबंध में यात्रा होगी।
- मीन : मांगलिक कार्यों के साथ लाभ के नए स्रोत बनेंगे।

No comments:

Post a Comment

Pages