उज्जैन का महाकाल मंदिर बना देश का स्वच्छ आइकॉनिक प्लेस - .

Breaking

Friday, 5 October 2018

उज्जैन का महाकाल मंदिर बना देश का स्वच्छ आइकॉनिक प्लेस

उज्जैन का महाकाल मंदिर बना देश का स्वच्छ आइकॉनिक प्लेस

श्री महाकालेश्वर मंदिर अब देश का स्वच्छ आइकॉनिक प्लेस बन गया है। मंगलवार को गांधी जयंती पर दिल्ली में आयोजित स्वच्छ भारत दिवस समारोह में केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने महाकाल मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक अभिषेक दुबे और जिला पंचायत सीईओ संदीप जेआर को यह पुरस्कार प्रदान किया। वर्ष 2017-18 में स्वच्छ ऑइकॉनिक प्लेस श्रेणी का पहला पुरस्कार प्रदान किया गया है।
महाकाल मंदिर देश के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रमुख है। यहां नित्य प्रात: 4 से 6 बजे भस्मारती होती है और ज्योतिर्लिंग के विशेष श्रंगार होते हैं। साल में एक बार महाशिवरात्रि पर ही भस्मारती दिन में होती है। प्रतिदिन मंदिर में हजारों श्रद्धालु देश-विदेश से दर्शन के लिए आते हैं। इस परिस्थिति में महाकाल मंदिर प्रशासन ने स्वच्छता के उपाय किए हैं। पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार ने मंदिर का चयन प्रथम पुरस्कार के लिए किया है। उज्जैन के लिए यह गौरव की बात है। कलेक्टर मनीषसिंह मंदिर प्रबंध समिति के पदेन अध्यक्ष हैं। कलेक्टर का पदभार ग्रहण करते ही उन्होंने मंदिर की साफ-सफाई पर फोकस किया और निरंतर अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए।
पुजारी से कहा था-यहां हार क्यों फेंका :- महाकाल मंदिर को साफ स्वच्छ बनाने के लिए कलेक्टर सिंह ने कड़े कदम उठाए। यहां तक कि उन्होंने मंदिर के ही एक पुजारी को यह कहकर टोक दिया था कि हार यहां क्यों फेंका? इस पर पुजारी ने हार को डस्टबिन में पहुंचाया। मंदिर परिसर की साफ-सफाई के लिए कलेक्टर ने लगातार निरीक्षण किए। रोज सुबह वे अचानक किसी भी समय मंदिर पहुंचते और साफ-सफाई व्यवस्था देखते।

No comments:

Post a Comment

Pages