करवा चौथ 27 को, 12 साल बाद बने इस महासंयोग में महिलाएं रखेंगी निर्जला व्रत - .

Breaking

Thursday, 25 October 2018

करवा चौथ 27 को, 12 साल बाद बने इस महासंयोग में महिलाएं रखेंगी निर्जला व्रत

करवा चौथ 27 को, 12 साल बाद बने इस महासंयोग में महिलाएं रखेंगी निर्जला व्रत

शहर में 27 अक्टूबर को करवा चौथ मनाई जाएगी। पति की दीर्घायु के लिए सुहागिन महिलाएं निर्जला व्रत रखेंगी। इस बार 12 साल बाद ऐसा महासंयोग बन रहा कि व्रत रोहणी नक्षत्र एवं स्थिर लग्न वृषभ, वृश्चिक की बृहस्पति, दिन शनिवार को चंद्र दर्शन होंगे। मां चामुण्डा दरबार के पुजारी पंडित रामजीवन दुबे एवं ज्योतिषाचार्य विनोद रावत ने बताया कि कार्तिक मासे कृष्ण पक्ष श्री गणेश-करवा चौथ महिलाएं निर्जला व्रत रखकर पति की लंबी आयु की कामना करेंगी। करवा चौथ के व्रत से परिवार में सुख-शांति, समृद्धि मान-सम्मान, लक्ष्मी की वृद्धि, दीर्घायु आदि की पूरी प्राप्ति होती है। सुहागिन महिलाएं भगवान शिव, माता-पार्वती और कार्तिकेय के साथ-साथ भगवान गणेश जी की पूजा करके कथा सुनती हैं। आरती के बाद अपने व्रत को चंद्रमा के दर्शन और उनको अर्घ्य देकर व्रत तोड़ती हैं।

करवाचौथ में इन पूजन सामग्री का होता है इस्तेमाल :- करवा, सीके-6, रोली, सिंदूर, हल्दी, चावल, पुष्प, मिष्ठान, कपूर, अगरबत्ती, शुद्ध घी का दीपक, कलावा, दूर्वा, शुद्ध जल का भरा हुआ कलश, घर में बने पकवान आदि की पूजा की जाती है। पूजा के पश्चात सुहागिन महिलाएं छलनी से चंद्रमा दर्शन के साथ पति के दर्शन करती हैं। पति के हाथों से ही जल और फल ग्रहण होते ही व्रत का समापन माना जाता है।

No comments:

Post a comment

Pages