वेलेन्टाइन डे पर पत्नी की हत्या कर फरार पति 15 साल बाद गिरफ्तार - .

Breaking

Thursday, 25 October 2018

वेलेन्टाइन डे पर पत्नी की हत्या कर फरार पति 15 साल बाद गिरफ्तार

वेलेन्टाइन डे पर पत्नी की हत्या कर फरार पति 15 साल बाद गिरफ्तार

अहमदाबाद में वेलेन्टाइन डे के दिन बैंक मैनेजर पत्नी सजनी की हत्या करने के बाद उसका शव प्रेमिका को गिफ्ट में देने वाले फरार पति को पुलिस ने 15 साल बाद गिरफ्तार किया है। अहमदाबाद अपराध शाखा पुलिस ने गुरुवार को हत्यारे पति तरुण धनराज को बेंगलुरु से दबोच लिया है। वह यहां एक सॉफ्टवेयर कंपनी में नाम बदल कर नौकरी कर रहा था। उसे अहमदाबाद लाया गया है।
बोपल इलाके में हिरापन्ना फ्लेट की तीसरी मंजिल पर तरुण अपनी पत्नी सजनी के साथ रहता था। तरुण पेशे से शिक्षक था तथा उसकी पत्नी एक बैंक में मैनेजर थी। उसने 14 फरवरी, 2003 के दिन फ्लैट में अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद खुद शव के पास बैठकर रोने लगा था। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उसका बयान दर्ज कर लिया था। लेकिन डॉग स्क्वेड की टीम को शंका होने पर उसके ऊपर निगरानी रखी गई थी। इस बीच पुलिस को पता चला था कि तरुण के एक रेडियो में आरजे के रुप में काम करती युवती के साथ प्रेम संबंध है। पुलिस की छानबिन में पता चला था कि तरुण आरजे युवती से शादी करना चाहता था। लेकिन उसकी पत्नी बीच में रोड़ा थी। तरुण ने अपनी प्रेमिका को वेलेन्टाइन डे के दिन पत्नी की हत्या कर उसका शव गिफ्ट करने का वादा किया था।

पुलिस ने उस समय तरुण को गिरफ्तार करने के लिए उसके घर पहुंची ही थी कि वह तबियत खराब होने का बहाना बनाकर अस्पताल में भर्ती हो गया। जिसके बाद पुलिस ने अस्पताल के बाहर तैनात हो गई। लेकिन दूसरे दिन जब पुलिस अस्पताल में उसे गिरफ्तार करने पहुंची तो वह वहां से फरार हो चुका था। अहमदाबाद अपराध शाखा पुलिस उपायुक्त जे.के. भट्ट ने गुरुवार को बताया कि हाईप्रोफाइल सजनी हत्याकांड मे पुलिस पिछले 15 सालों से फरार पति तरुण को कई राज्यों मे तलाश रही थी। इस दौरान सूचना मिली कि तरुण अपने एक संबंधी को फोन करता है, जिसके आधार पर पुलिस ने उसके फोन डिटेल निकाले तो पता चला कि तरुण बेंगलुरु में छिपकर सॉफ्टवेयर कंपनी ओरेकल में काम करता है।

पुलिस ने कंपनी में छापा मारकर तरुण को गिरफ्तार कर लिया। अपराध शाखा पुलिस ने बताया कि तरुण ओरकेल कंपनी में पिछले छह साल से काम करता था। वह यहां नाम बदलकर रहता था। उसने दूसरी शादी भी कर ली और उससे उसके दो बच्चे है। उसे गिरफ्तार को अहमदाबाद लाया गया है। उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेने की कार्रवाई शुरु कर दी है।
एक लाख का इनाम था :- हाईप्रोफाइल सजनी हत्याकांड में पुलिस ने फरार पति को पकड़ने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने कई राज्यों में उसकी तलाश की, लेकिन उसका कोई पता नहीं चल रहा था। इबाद पुलिस ने आरोपी तरुण धनराज का पता बताने वाले को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की थी।

No comments:

Post a comment

Pages