अशोकनगर जिले में 18 साल बाद मूसलधार बारिश, कई गांव डूबे - .

Breaking

Sunday, 2 September 2018

अशोकनगर जिले में 18 साल बाद मूसलधार बारिश, कई गांव डूबे

अशोकनगर जिले में 18 साल बाद मूसलधार बारिश, कई गांव डूबे

मध्‍यप्रदेश के अशोकनगर जिले में शनिवार-रविवार की रात तबाही वाली रही। 24 घंटे की तबाड़तोड़ बारिश ने लोगों को 18 साल पहले वर्ष 2000 में हुई मूसलधार बारिश का मंजर याद दिला दिया। शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे से रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक कुल 295 मिलीमीटर यानी करीब 13 इंच बारिश जिले की चंदेरी तहसील में सर्वाधिक दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार इस सीजन में प्रदेश में एक दिन में यह सबसे अधिक बरसात है। वहीं ईसागढ़ में इसी दौरान 9 इंच से ज्यादा बारिश हुई। भारी बारिश से ईसागढ़ का भर्रोली डैम ओवरफ्लो हो गया और जिसका पानी तहसील के दर्जनों गांवों में भर गया।
वहीं प्रशासन का तेजी हो रहे जलभराव को देखते हुए राजघाट डैम के भी छह गेट खुलवाने पड़े। प्रशासन के अनुसार चंदेरी और ईसागढ़ में 50 से अधिक कच्चे मकान गिरने के साथ ही 27 मवेशियों के पानी के तेज बहाव में बहने की सूचना दर्ज की गई है। इधर घरों में पानी भरने से ग्रामीणों ने मकानों की छत पर रात गुजारी। वहीं दर्जनों बाढ़ पीड़ित परिवारों को प्रशासन ने स्कूलों में ठहराया है। डिप्टी कलेक्टर नीलेश शर्मा ने बताया कि रविवार शाम साढ़े 4 बजे से सोमवार सुबह करीब 10 बजे तक लगातार हुई तेज बारिश से नदी-नालों में आई बाढ़ का पानी कई गांवों में घुस गया है। खैरा गांव में 27 मवेशी बाढ़ में बह गए हैं। चंदेरी एसडीएम राहुल गुप्ता ने बताया खैरा, गोराकला, खसरिया, फतेहाबाद सहित कई गांवों में बाढ़ का पानी भर गया, लोगों ने मकान की छत पर रात गुजारी। 
डैम के पानी से घिरा भर्रोली गांव  :- ईसागढ़ में भर्रोली डैम ओवरफ्लो हो जाने से भर्रोली गांव बाढ़ से घिर गया था। इस गांव की सड़क पर 3 से 5 फीट पानी होने से आवागमन बंद हो गया। डैम का पानी भरने से पूरा गांव दो भागों में बंट गया और गांव के लगभग 21 लोग बाढ़ में घिर गए। प्रशासन ने कपड़े, भोजन का इंतजाम कर उन्हें स्कूल ठहराया है। इसके अलावा महोली सहित कई भी नदी-नालों की बाढ़ से घिर गए। 
चंबल व बुंदेलखंड में भारी बारिश की चेतावनी :- मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मप्र के उत्तरी भाग पर सक्रिय सिस्टम के अलावा दक्षिणी राजस्थान और उससे लगे गुजरात के हिस्से पर चक्रवात बना है। इसी तरह उड़ीसा और उसके आसपास के क्षेत्र पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस वजह से प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता जीडी मिश्रा ने बताया कि टीकमगढ़, छतरपुर, पन्नाा, सागर,दमोह, गुना, ग्वालियर, दतिया, अशोकनगर, शिवपुरी, भिंड, मुरैना, राजगढ़, आगर, नीमच, मंदसौर जिले में कहीं-कहीं भारी बरसात होने की चेतावनी जारी की गई है।

No comments:

Post a Comment

Pages