सफर सुहाना बनाने के लिए कोच की सूरत बदलेगा रेलवे - .

Breaking

Thursday, 9 August 2018

सफर सुहाना बनाने के लिए कोच की सूरत बदलेगा रेलवे

सफर सुहाना बनाने के लिए कोच की सूरत बदलेगा रेलवे


यात्रियों को गंदे व क्षतिग्रस्त कोच में सफर नहीं करना पड़ेगा। इसके लिए पहले से जहां स्वर्णिम व उत्कृष्ट परियोजना के तहत काम चल रहा है, वहीं नियमित अंतराल पर अब कोच में व्यापक बदलाव भी किया जाएगा। प्रत्येक छह वर्ष बाद कोच का नवीनीकरण होगा, जिससे कि रेल यात्रियों को सफर के दौरान सुखद अनुभव हो सके।
यात्रा के दौरान अक्सर यात्री क्षतिग्रस्त कोच की शिकायत करते हैं। सीटें फटी होती हैं तो चार्जिंग प्वाइंट व पंखे ठीक ढंग से काम नहीं करते हैं। फर्श व खिड़कियां भी क्षतिग्रस्त होती हैं। शौचालय का भी बुरा हाल होता है। कहने को तो नियमित देखभाल के साथ ही 18 महीने बाद इंटिग्रेटेड कोच फैक्ट्री (आइसीएफ) के परंपरागत कोच का और 36 महीने बाद लिक हॉफमैन बुश (एलएचबी) कोच में जरूरत के हिसाब से बदलाव किए जाते हैं, लेकिन फंड की कमी व अधिकारियों की लापरवाही की वजह से यह काम ठीक ढंग से नहीं हो पाता है।
इस समस्या को ध्यान में रखते हुए रेलवे बोर्ड ने पिछले वर्ष संपर्क, समन्वय, संवाद सम्मेलन के दौरान अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन ब्यूरो (आरडीएसओ) को रेल कोच के नवीनीकरण को लेकर दिशा- निर्देश तैयार करने को कहा था। आरडीएसओ द्वारा तैयार किए गए दिशा-निर्देश के अनुसार प्रत्येक छह वर्ष बाद कोच की रंगत बदली जाएगी। इस बारे में सभी रेलवे जोन को सूचित कर दिया गया है। पहले चरण में एलएचबी और आइसीएफ के सिर्फ वातानुकूलित (एसी) कोच को इस योजना में शामिल किया जा रहा है। इसके तहत प्रत्येक छह वर्ष के बाद कोच को रेल पटरियों से हटाकर कार्यशाला में ले जाकर इसमें जरूरी बदलाव करके एक तरह से नया रूप दिया जाएगा।
एसी कोच के बाद सामान्य श्रेणी के कोच को इस योजना में शामिल किया जाएगा। राजधानी और शताब्दी ट्रेनों के सफर को यादगार बनाने के लिए स्वर्ण परियोजना के साथ ही मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में सफर को भी सुखद बनाने के लिए उत्कृष्ट परियोजना शुरू की गई है। स्वर्ण परियोजना के तहत सभी राजधानी व शताब्दी एक्सप्रेस के कोच में बदलाव किया जा रहा है। वहीं, उत्कृष्ट परियोजना के तहत देश की 66 ट्रेनों की सूरत बदली जाएगी।
परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा विशेष ट्रेनें :- रेलवे भर्ती परीक्षा को ध्यान में रखकर रेल प्रशासन ने परीक्षा विशेष ट्रेनें चलाने की घोषणा की है। इसी कड़ी में देवरिया सदर-आनंद विहार टर्मिनल-गोरखपुर (05027/05028) और छपरा-आनंद विहार टर्मिनल (05115/05116) विशेष ट्रेन चलाई जा रही हैं।
05027 नंबर की विशेष ट्रेन बुधवार सुबह छह बजे देवरिया सदर से रवाना हुई है। वापसी में 05028 नंबर की ट्रेन गुरुवार शाम सात बजे रवाना होगी। इस ट्रेन में 15 जनरल कोच और दिव्यांग कोच हैं।0 5115 नंबर की ट्रेन बुधवार को सुबह छह बजे छपरा से रवाना हुई है। वापसी में 05116 नंबर की ट्रेन गुुरुवार को आनंद विहार टर्मिनल से शाम छह बजे रवाना होगी। इसमें 20 जनरल कोच लगाए गए हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages