7 साल की मासूम से हैवानियत की कोशिश, इस तरह बचाया खुद को - .

Breaking

Thursday, 2 August 2018

7 साल की मासूम से हैवानियत की कोशिश, इस तरह बचाया खुद को

7 साल की मासूम से हैवानियत की कोशिश, इस तरह बचाया खुद को

रानीताल क्षेत्र में रहने वाली 7 साल की बच्ची के साथ मंगलवार की रात एक अधेड़ शराब तस्कर ने दुराचार की कोशिश की। मासूम घर से पास ही स्थित किराना दुकान में कुछ सामान लेने जा रही थी। इसी दौरान आरोपित ने बच्ची को पकड़ लिया और उसे उठाकर सुनसान स्थान पर ले गया। घटना से दहशत में आई मासूम ने चीखने की कोशिश की तो आरोपित ने उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी। फिर उसके कपड़े फाड़ दिए। बदहवासी में बच्ची को कुछ नहीं सूझा तो उसने आरोपित के हाथ में दांत से काट लिया। इससे नाराज आरोपित ने उसे जमीन पर पटक दिया और अपने हाथ को देखने लगा।
तभी मौका पाकर बच्ची ने पास ही पड़े ईंट के टुकड़े को उठाया और आरोपित के सिर पर वार कर दिया। बच्ची का साहस देख आरोपित हड़बड़ा गया, जिसका फायदा उठाकर बच्ची भागते हुए सीधे अपने घर पहुंची और दहशत में बाथरूम में छिपकर दरवाजा अंदर से बंद कर लिया।
बाथरूम से सिसकने की आवाज सुन हैरान रह गई चाची :- घटना के कुछ देर बाद बच्ची की चाची अपने कमरे से बाहर निकली तो उसे बाथरूम से किसी के सिसकने की आवाज सुनाई दी। उसने बाथरूम में झांककर देखा, तो बालिका सहमी हुई एक कोने में बैठी रो रही थी। जिस पर चाची ने बालिका को बाहर निकाला और प्यार से ढांढस बंधाते हुए रोने का कारण पूछा तो बच्ची आपबीती बताते हुए फफक पड़ी।
किराना दुकान खुली है या नहीं, देखने गई थी :- बच्ची के घर के पास एक किराना दुकान है, जो रात 11 बजे तक खुली रहती है। बालिका को कुछ सामान चाहिए था। जिस कारण वह घर से यह देखने निकली थी कि दुकान खुली है या नहीं। इसी दौरान आरोपित शराब तस्कर राकेश सोनकर (53) की नजर उस पर पड़ गई। आरोपित ने उसका मुंह दबाया और उठाकर सुनसान इलाके में ले गया। जहां उसने मासूम से हैवानियत की कोशिश की।
रात 12 बजे से सुबह 6 बजे तक थाने में प्रदर्शन :- घटना की जानकारी होते ही स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। आक्रोशित लोग आरोपित की तत्काल गिरफ्तारी के लिए लामबंद होकर रात 12 बजे लार्डगंज थाने पहुंचे और प्रदर्शन करने लगे। थाने में प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों लोगों की मांग थी कि पुलिस तत्काल बच्ची का मेडिकल कराए और बयान दर्ज करे। भीड़ का दबाव देख पुलिस सक्रिय हुई और सुबह 6 बजे आरोपित को गिरफ्तार कर थाने ले आई। जिसके बाद प्रदर्शन शांत हुआ।
पुलिस कर्मियों से थाने में धक्का-मुक्की :- बच्ची के साथ दरिंदगी की कोशिश से नाराज लोग पुलिस पर मामले में हीलाहवाली का आरोप लगाते हुए तत्काल आरोपित की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इस दौरान पुलिस कर्मियों ने भीड़ को समझाने की कोशिश की तो उनका गुस्सा उन पर ही फूट पड़ा। कुछ पुलिसकर्मियों से भीड़ ने धक्का-मुक्की भी की। भीड़ के तेवर देख पुलिस बैकफुट पर आ गई। उसने किसी तरह मामले को संभाला और लोगों को शांत कराया।
भीड़ ने कहा- इसे हमें सौंप दो, इसका फैसला हम करेंगे :- आरोपित राकेश सोनकर को गिरफ्तार कर पुलिस लार्डगंज थाने पहुंची तो उसे देखते ही भीड़ का गुस्सा फूट पड़ा। भीड़ ने पुलिस से कहा- इसे हमें सौंप दो, इसका फैसला हम करेंगे। इस बीच आक्रोशित भीड़ आरोपित की पिटाई के लिए आगे भी बढ़ी, जिसे पुलिस कर्मियों ने रोक दिया। इस कारण पुलिस और भीड़ में टकराव की स्थिति बन गई। भीड़ पुलिस कर्मियों से हाथापाई पर उतर आई। यह देख पुलिस अफसरों ने मोर्चा संभाला और भीड़ को समझाते हुए शांत कराया। आरोपित पर दुराचार की कोशिश और पाक्सो एक्ट का मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Pages