विस्तार परियोजनाओं पर 55 अरब खर्च करेगी हिंदुस्तान कॉपर - .

Breaking

Thursday, 2 August 2018

विस्तार परियोजनाओं पर 55 अरब खर्च करेगी हिंदुस्तान कॉपर

विस्तार परियोजनाओं पर 55 अरब खर्च करेगी हिंदुस्तान कॉपर

हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड अगले पांच साल में अपनी उत्पादन क्षमता को 40 लाख टन से बढ़ाकर दो करोड़ टन कर लेगी। कंपनी ने इसके लिए एक महत्वाकांक्षी विस्तार परियोजना शुरू की है जिस पर 5500 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसकी वित्तीय जरूरत पड़ने पर कंपनी नई इक्विटी जारी करेगी। बुधवार को ही केंद्रीय कैबिनेट से कंपनी को 15 फीसद तक नई इक्विटी जारी करने की मंजूरी दी थी।
कंपनी मध्य प्रद्देश, राजस्थान और झारखंड के अपने संयंत्रों में क्षमता विस्तार कर रही है। इस कार्यक्रम से कंपनी 9300 रोजगार के नए अवसर पैदा करेगी। 2023-24 तक दो करोड़ टन सालाना क्षमता हो जाने के बाद कंपनी कॉपर के कच्चे माल की 30 फीसद घरेलू मांग पूरी कर सकेगी। पहले चरण में कंपनी 2019-20 में 40 लाख टन की मौजूदा क्षमता को एक करोड़ टन कर लेगी।
कंपनी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक संतोष शर्मा ने बताया कि वित्तीय संसाधन आंतरिक स्त्रोत और कर्ज के जरिये भी जुटाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त सरकार ने 15 फीसद तक नई इक्विटी जारी करने की अनुमति प्रद्दान की है। जैसे-जैसे जरूरत होगी, कंपनी इक्विटी जारी करेगी। इसकी पहली किस्त इसी वित्त वर्ष में आ सकती है। शर्मा ने इस बात की जानकारी देने से इन्कार कर दिया कि पहली किस्त में कितनी फीसद इक्विटी क्यूआइपी के जरिये बेची जाएगी। विस्तार के अतिरिक्त कंपनी ने बड़े पैमाने पर एक्सप्लोरेशन कार्यक्रम चलाने का भी फैसला किया है। तीन साल चलने वाले इस कार्यक्रम पर कंपनी 175 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। अगले दो महीने में छत्तीसगढ़ में रायपुर के निकट काम शुरू हो जाएगा। इसके लिए एचसीएल ने छत्तीसगढ़ माइनिंग डवलपमेंट कॉरपोरेशन के साथ एक संयुक्त उद्यम स्थापित किया है। 

No comments:

Post a Comment

Pages