यहां ब्लड बैंक ही जूझ रहे खून की कमी से, सिर्फ एक्सचेंज में ही मिल रहा ब्लड - .

Breaking

Sunday, 1 July 2018

यहां ब्लड बैंक ही जूझ रहे खून की कमी से, सिर्फ एक्सचेंज में ही मिल रहा ब्लड

यहां ब्लड बैंक ही जूझ रहे खून की कमी से, सिर्फ एक्सचेंज में ही मिल रहा ब्लड

हमीदिया समेत शहर के अन्य सरकारी ब्लड बैंकों में इन दिनों खून की किल्लत है। मरीजों को सिर्फ बदले (एक्सचेंज) में ब्लड मिल पा रहा है। ब्लड की किल्लत होने की वजह कैंप कम लगना है। इन दिनों कॉलेजों में छुट्यिां हैं। शादियों का सीजन है। इसके चलते कैंप नहीं लग पा रहे हैं। हमीदिया अस्पताल में आमतौर पर 400 से 500 यूनिट ब्लड उपलब्ध रहता है, पर इन दिनों करीब 150 यूनिट ब्लड ही है। अस्पताल के ब्ल्ड बैंक ऑफीसर डॉ. यूएम शर्मा ने कहा कि एक-दो दिन के अंतर में कैंप लग रहे हैं, इसलिए कोई दिक्कत नहीं है। कॉलेज खुलने के बाद स्वैच्छिक रक्तदान और बढ़ जाएगा।
जेपी अस्पताल के ब्लड बैंक ऑफीसर डॉ. एचएल भूरिया ने बताया कि अस्पताल में लगभग 50 यूनिट ब्लड होगा। उन्होंने कहा कि बाकी दिनों में 150 यूनिट ब्लड का स्टाक रहता है, लेकिन गर्मी के चलते रक्तदान में कमी आई है। शिवाजी नगर स्थित रेडक्रास में भी करीब 160 यूनिट ब्लड उपलब्ध है। यहां 17 जून के बाद कोई कैंप नहीं लगा है।
हमीदिया की पुरानी इमरजेंसी में शिफ्ट हुआ ब्लड बैंक :-  हमीदिया अस्पताल में मरीजों को ब्लड के लिए अब भटकना नहीं होगा। ब्लड बैंक गुरुवार से पुरानी इमरजेंसी की जगह शिफ्ट कर दिया गया। अभी तक ब्लड बैंक अधीक्षक कार्यालय के पास था। अब यहां ताला बंद कर दिया गया है। पुरानी जगह पर ब्लड बैंक मरीजों व परिजनों को काफी दूर पड़ता था। 2 हजार बिस्तर के अस्पताल के निर्माण कार्य के चलते निकलने में भी मुश्किल होती थी। यह ब्लड बैंक हमीदिया अस्पताल से दूर था। नए आकस्मिक चिकित्सा विभाग व वार्ड के बीच में ब्लड बैंक बन गया है।
गर्भवती महिलाओं का नहीं लगेगा ब्लड प्रोसेसिंग चार्ज :- गर्भवती महिलाओं, प्रसूताओं और थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों से सरकारी अस्पताल ब्लड का प्रोसेसिंग शुल्क नहीं ले सकेंगे। यह निर्णय दो दिन पहले हुई स्टेट ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल की बैठक में लिया गया है। यह शुल्क 1050 रुपए प्रति यूनिट है। खून का मिलान व पांच तरह की जांचों के लिए यह शुल्क लिया जाता है। हालांकि, जननी शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा कार्यक्रम (जेएसएसके) के तहत 2011 से गर्भवती महिलाओं और एक साल तक के बच्चों को निःशुल्क ब्लड उपलब्ध कराने का नियम है, लेकिन इस पर बहुत कम ब्लड बैंक अमल कर रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages