साल दर साल बढ़ रहा भोपाल का तापमान, अभी भी नहीं चेते तो तंदूर सा तपेगा शहर - .

Breaking

Tuesday, 5 June 2018

साल दर साल बढ़ रहा भोपाल का तापमान, अभी भी नहीं चेते तो तंदूर सा तपेगा शहर

साल दर साल बढ़ रहा भोपाल का तापमान, अभी भी नहीं चेते तो तंदूर सा तपेगा शहर

सिमटती हरियाली और बढ़ते सीमेंट-कांक्रीट के जंगल। बढ़ती एयर कंडीशनरों की संख्या। 22 लाख की आबादी में सड़कों पर दौड़ते 15 लाख वाहनों का धुआं। शहर के आसपास खत्म होते जंगल और बढ़ते कारखाने। हालात यह हैं कि स्मार्ट सिटी में शुमार राजधानी के मौसम का मिजाज लगातार बिगड़ता जा रहा है। मौसम विज्ञानियों का दावा है कि 100 साल में राजधानी सहित प्रदेश के महानगरों के औसत तापमान में 2.5 डिग्री से. तक बढ़ोतरी हो चुकी है। यदि अभी नहीं चेते तो अगले 100 वर्ष में औसत तापमान 5 से 7 डिग्री से. तक बढ़ सकता है। इससे गर्मियों में शहर तंदूर की तरह तपेंगे।
बिगड़ते पर्यावरण के कारण शहर का औसत तापमान साल दर साल बढ़ता जा रहा है। 20 मई 2016 को तो भोपाल का अधिकतम तापमान 47 डिग्री से. तक जा पहुंचा था,जो सौ साल में सर्वाधिक था। इस वर्ष भी मई में पिछले दस वर्ष की तुलना में सबसे अधिक गर्मी पड़ी और मई का औसत तापमान सामान्य से 2 डिग्री से. अधिक दर्ज हुआ। पिछले 10 साल में पहली बार मई के 31 दिनों में से 27 दिन तापमान 42 डिग्री से. से ऊपर दर्ज किया गया।
क्या कहते हैं विशेषज्ञ :- मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व निदेशक और वर्तमान में पुणे मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी (एफ) डॉ. अनुपम काश्यपि का कहना है कि जलवायु परिवर्तन के कारण मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। कारखानों और वाहनों से धुएं के साथ निकलती जहरीली गैसें, एयरकंडीशनर का बढ़ता इस्तेमाल और तेजी से घट रही हरियाली के कारण वातावरण का औसत तापमान तेजी से बढ़ रहा है। सीमेंट कांक्रीट से निर्माण का लगातार इजाफा हो रहा है। स्थिति यह है कि पिछले सौ साल में पूरे ब्रह्मांड का औसत तापमान एक डिग्री से. बढ़ा है। इसी अवधि में देश का तापमान 1.5 से 2 डिग्री से. तक और मप्र का औसत तापमान 2.5 डिग्री से. तक बढ़ा है। डॉ. काश्यपि के मुताबिक यदि अभी भी नहीं चेते तो अगले 100 वर्ष में मप्र के औसत (विशेषकर महानगरों) तापमान में 5 से 7 डिग्री से. तक का इजाफा हो सकता है। इससे गर्मियों में शहरों की स्थिति तंदूर की तरह हो जाएगी।

No comments:

Post a Comment

Pages