डेढ़ साल के मासूम को कूलर से लगा करंट, अस्पताल में इलाज के अभाव में हुई मौैत - .

Breaking

Thursday, 28 June 2018

डेढ़ साल के मासूम को कूलर से लगा करंट, अस्पताल में इलाज के अभाव में हुई मौैत

डेढ़ साल के मासूम को कूलर से लगा करंट, अस्पताल में इलाज के अभाव में हुई मौैत

बुधवार की सुबह डेढ़ वर्षीय मासूम बालक को खेलते समय कूलर से करंट लग गया। जिसे उपचार के लिए परिजन सिहोरा अस्पताल लेकर आए लेकिन एक घंटे तक इलाज के लिए तड़प रहे मासूम की मौत हो गई। अस्पताल से कोई इलाज नहीं मिला जिसके बाद लोगों की भीड़ जमा हो गई और नाराज लोगों ने मासूम के शव को हाथ में लेकर अस्पताल से एसडीएम कार्यालय तक सरकारी तंत्र के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पहुंचे और दोषी डॉक्टर पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए।
खितौला थाना क्षेत्र के ग्राम बरगवां (जुनवानी) निवासी आशीष पटैल के डेढ़ वर्षीय बच्चे को सुबह खेलते समय कूलर से करंट लग गया। जिसको लेकर परिजन तुरंत ही सिहोरा के सरकारी अस्पताल सुबह 10.45 बजे पहुंचे। लेकिन अस्पताल में कोई भी डॉक्टर नहीं था और करीब एक घंटे तक मासूम को इलाज के अभाव में दोपहर 12 बजे बच्चे की मौत हो गई। जबकि अस्पताल में तत्कालीन समय में डॉक्टर सुनीता पोनिकर ड्यूटी पर थीं, जो नदारत रही।
अस्पताल की इस लापरवाही को सुन कर लोग एकत्रित होने लगे। जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने बच्चे के शव को लेकर नगर की गलियों से नारेबाजी करते हुए अस्पताल से बस स्टैंड होते हुए एसडीएम कार्यालय के सामने धरने में बैठ गए और सिहोरा एसडीएम एवं स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते हुए दोषी डॉक्टर की बर्खास्तगी की मांग करने लगे। अधिकारियों की समझाइश के बाद आक्रोशित लोग शांत हुए। शाम को 5 बजे बच्चे का पीएम कराया गया।
भीड़ के साथ नेताओं का हंगामा :- मासूम बच्चे की मौत के बाद नगर की राजनीति में भी उफान आ गया और आक्रोशित ग्रामीणों के साथ नगर के छोटे बड़े नेता भी नारेबाजी करते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। नेताओं ने आरोप लगाया कि तीन घंटे तक कोई इलाज नहीं मिला जिसके कारण बच्चे की मौत हुई। जिसके बाद एसडीएम जेपी यादव ने तुरंत ही जांच टीम गठित कर अस्पताल भेजी। यहां जांच में पता चला कि बच्चे को लेकर करीब पौने ग्यारह बजे परिजन पहुंचे थे, जिसके बाद जीडी पहारिया ने बारह बजकर आठ मिनट पर बच्चे की जांच कर मृत बताया। जबकि धरने पर बैठे लोगों का कहना था कि तीन घंटे तक कोई देखने नहीं आया और एसडीएम कार्यालय में करीब घंटे भर हंगामा मचाते रहे।

No comments:

Post a Comment

Pages