प्रधानमंत्री ने झाबुआ के किसान से पूछा, शादी गुजरात में हुई या मप्र में - .

Breaking

Wednesday, 20 June 2018

प्रधानमंत्री ने झाबुआ के किसान से पूछा, शादी गुजरात में हुई या मप्र में

प्रधानमंत्री ने झाबुआ के किसान से पूछा, शादी गुजरात में हुई या मप्र में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार सुबह देश के 600 जिलों के किसानों से सीधा संवाद किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई चर्चा में झाबुआ जिले के तीन किसानों से उन्होंने बात की। किसान राजू हटीला का सरनेम सुनकर मोदी ने पूछा- आपकी शादी गुजरात में हुई या मप्र में। राजू ने बताया- सर, मप्र में। प्रधानमंत्री बोले, हटीला लोग ज्यादातर गुजरात में शादी करते हैं। चर्चा में गांव धमोई की चम्पा निनामा के कड़कनाथ पालन कर आर्थिक सुदृढ़ता पाने पर बधाई दी। गवसर गांव के राजू हटीला और भगोर के मुकेश खपेड़ से बात की। खपेड़ ने बताया- पहले मजदूरी कर साल 40 हजार रुपए कमा पाता था। अब साढ़े तीन साल में 10 लाख रुपए कमाए।
कस्मट हायरिंग योजना से साढ़े 12 लाख रुपए लोन लेकर खेती के आधुनिक उपकरण खरीदे। ये किराए पर दिए और स्वयं भी उपयोग किया। इस सरकारी मदद से जीवन स्तर बदल गया। किसानों ने बताया कि मजदूर से मालिक बन गए। प्रधानमंत्री ने उन्हें बधाई दी और अपनी मेहनत मशीनों व उपकरणों के साथ करने की सलाह दी। कलेक्टोरेट केकॉन्फ्रेंसिंग रूम में यह चर्चा हुई।
बस का करता था इंतजार :- संवाद में झाबुआ के किसानों से मुखाबित होने के दौरान प्रधानमंत्री ने जिले से जुड़ी पुरानी यादें साझा की। उन्होंने कहा- मैं गुजरात के दाहोद जिले में खूब आता-जाता था। जब मैं राजनीति में नहीं था, तब भी बहुत आता-जाता था, तो झाबुआ जिले में मेरा आना-जाना बहुत सहज होता था। बस में आते थे और कभी-कभी दो-दो, तीन-तीन घंटे बस नहीं आती थी तो वहीं बैठे रहते थे। मैंने वहां के किसानों की दुर्दशा देखी हुई है। आदिवासी ज्यादातर गुजरात में रोड का काम कर चले जाते थे। आज जब उनकी सफलता के बारे में सुन रहा था तो मुझे इतनी प्रसन्न्ता हुई, क्योंकि जिस इलाके से मैं परिचित हूं, जहां के लोगों से मैं परिचित हूं, उनके मुंह से सफलता की गाथा सुनता हूं तो इतना आनंद हो रहा है, मैं सचमुच आप सबको बधाई देता हूं।

No comments:

Post a Comment

Pages