मॉडल स्कूलों में बढ़ाई गईं दो-दो सीटें, शिक्षा मंत्री की सिफारिश से होगा एडमिशन - .

Breaking

Thursday, 14 June 2018

मॉडल स्कूलों में बढ़ाई गईं दो-दो सीटें, शिक्षा मंत्री की सिफारिश से होगा एडमिशन

मॉडल स्कूलों में बढ़ाई गईं दो-दो सीटें, शिक्षा मंत्री की सिफारिश से होगा एडमिशन

उत्कृष्ट विद्यालयों सहित प्रदेश के सभी मॉडल स्कूलों में कक्षा 9वीं में दो-दो सीटें बढ़ा दी गई हैं। जिन स्कूलों में अब तक 240 सीटें हुआ करती थीं। वहां अब 242 सीटें होंगी। जबकि जो स्कूल 100-100 सीटों के हैं, वहां सीट संख्या बढ़ाकर 102 कर दी गई है। खास बात यह है बढ़ाई गई इन अतिरिक्त सीटों में सिर्फ शिक्षा मंत्री की सिफारिश से ही एडमिशन दिया जाएगा। छात्र को यदि 8वीं में 'सी ग्रेड' भी मिला है तो भी एडमिशन मिलेगा। छात्र को माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा दी जाने वाली प्रवेश परीक्षा भी नहीं देनी पड़ेगी। बता दें कि मॉडल स्कूल में एक सीट पर एडमिशन दिलाने को लेकर पिछले साल राजनीतिक घमासान मच चुका है।
31 जुलाई तक मिलेगा एडमिशन :- मॉडल स्कूलों में बढ़ाई गई दो-दो सीटों में अब बिना प्रवेश परीक्षा दिए शिक्षा मंत्री की सिफारिश कर रसूखदार या कोई भी अन्य पैरेन्ट्स अपने बच्चे 31 जुलाई तक एडमिशन करा सकेंगे। आयुक्त लोक शिक्षण ने मॉडल स्कूल में एडमिशन की नई व्यवस्था के संबंध में बुधवार को आदेश जारी कर दिए हैं।
मॉडल में एडमिशन दिलाने हो चुका राजनीतिक बवाल  :-  बता दें कि पं.लज्जा शंकर झा मॉडल स्कूल में एडमिशन को लेकर राजनीतिक बवाल भी मच चुका है। पिछले साल बीजेपी के एक नेता स्कूल में अपने परिचित के बच्चे को एडमिशन दिलाना चाह रहे थे, लेकिन छात्र के परीक्षा में कम अंक होने के कारण प्राचार्य ने एडमिशन नहीं दिया था। एडमिशन को लेकर विवाद इतना बढ़ा कि मामला पुलिस से होता हुआ बीजेपी मुख्यालय और फिर आरएसएस तक पहुंच गया था। ये राजनीतिक बवाल करीब डेढ़ माह तक चला था।
9वीं में प्रवेश के लिए होती है परीक्षा  :- उत्कृष्ट विद्यालय और ब्लॉक स्तरीय मॉडल स्कूलों में 9वीं में एडमिशन कराने के लिए 8वीं में अव्वल आने वाले छात्रों को प्रवेश परीक्षा देनी होती है। ओएमआर सीट पर ये परीक्षा माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कराई जाती है। इसके पहले छात्रों को ऑनलाइन फार्म भरना होता है।
490 सीटों के लिए मचती है होड़  :- - पं.लज्जा शंकर झा उत्कृष्ट विद्यालय में 9वीं में पहले 240 सीटें थीं। इसमें 50 सीटें बढ़ाकर 290 कर दी गई हैं। जिसमें एडमिशन कराने एक हजार से ज्यादा पैरेन्ट्स अपने बच्चों के फार्म भरवाते हैं। नवनिर्मित शहपुरा और कुंडम ब्लॉक के 100-100 सीटों वाले मॉडल स्कूलों में भी 400 से 500 छात्र अपनी किस्मत आजमाते हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages