पत्नी को फांसी पर लटका देख पति ने भी गोली मारकर कर ली आत्महत्या - .

Breaking

Thursday, 21 June 2018

पत्नी को फांसी पर लटका देख पति ने भी गोली मारकर कर ली आत्महत्या

पत्नी को फांसी पर लटका देख पति ने भी गोली मारकर कर ली आत्महत्या

पति-पत्नी रात में घर के दूसरी मंजिल के बेडरूम में सोने गए। सुबह 7 बजे पत्नी बेडरूम के दूसरे कमरे में फांसी पर लटकी मिली। पत्नी को फांसी पर लटका देख पति तीसरी मंजिल के कमरे में पहुंचा और गेट अंदर से बंद कर 315 बोर के कट्टे से सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली की आवाज सुन परिजन कमरे की ओर दौड़े तो गेट अंदर से लगा मिला। परिजन ने गेट तोड़ा तो अंदर खून से लथपथ शव पड़ा था। 18 अप्रैल को 2018 दोनों की शादी हुई थी। पुलिस पड़ताल कर रही है।
यह है पूरा मामला :- मेहगांव के वार्ड 1 ग्वालियर रोड निवासी श्यामू (24) पुत्र वीरेंद्र शर्मा बुधवार रात परिजन से बातचीत के बाद घर की दूसरी मंजिल पर अपने बेडरूम में पत्नी दीक्षा शर्मा के साथ सोने चले गए। गुरुवार सुबह जब दीक्षा जागकर नीचे कमरे में नहीं पहुंची तो ननद उमा शर्मा सुबह करीब 7 बजे श्यामू के बेडरूम में पहुंची। वहां श्यामू सो रहे थे, लेकिन दीक्षा नहीं थी। उमा बेडरूम के दूसरे कमरे में पहुंची तो दीक्षा फांसी पर लटकी हुई थी। साड़ी से फांसी का फंदा बनाया था। दीक्षा को फांसी पर लटका देखकर उमा की चीख निकल गई। चीख सुनकर परिजन पहुंचे। उन्होंने श्यामू को जगाया और कहा कि दीक्षा ने यह क्या कर लिया। श्यामू ने दीक्षा को बेडरूम के दूसरे कमरे में फांसी पर लटका देखा तो सीधे उटकर घर के तीसरी मंजिल के कमरे में पहुंचा और अंदर से गेट बंद कर 315 बोर के कट्टे से सिर में दाहिनी ओर गोली मार ली।
गोली की आवाज सुनकर दौड़े परिजन :-  दीक्षा को फांसी पर लटका देखकर परिजन को समझ नहीं आ रहा था कि वे क्या करें, लेकिन इसी दौरान श्यामू ने गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर अनहोनी की आशंका से परिजन दौड़कर घर के तीसरी मंजिल के कमरे के बाहर पहुंचे। गेट अंदर से लगा था। परिजन ने श्यामू को आवाजें दी, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। परिजन ने किसी तरह से गेट खोला तो खून से लथपथ श्यामू का शव पड़ा था। इसके बाद परिजन ने मेहगांव पुलिस को सूचना दी।
शव के पास मिला 315 बोर का कट्टा :- पुलिस की पहुंची तो वीरेंद्र शर्मा के घर की तीसरी मंजिल के कमरे में खून से लथपथ श्यामू का शव पड़ा था। पास में 315 बोर का कट्टा पड़ा था, जिससे गोली मारी गई। कट्टे में चला हुआ कारतूस फंसा मिला है। पुलिस ने भिंड से एफएसएल अधिकारी डॉ पी अजय सोनी को बुलवाकर पड़ताल की। कट्टे को जब्ती में लिया है। दोनों के शव को पीएम के लिए भेज दिया है।
पिता का आरोप, बेटी की हत्या हुई :- दीक्षा का मायका भिंड के वार्ड नंबर 22 में है। आत्महत्या की सूचना मिलने पर दीक्षा के पिता रामदास शर्मा परिजन के साथ मेहगांव पहुंचे। पिता ने आरोप लगाया ननद उमा शर्मा और जेठानी वर्षा पत्नी रामू शर्मा दीक्षा को परेशान करते थे। पिता ने कहा इसी सोमवार को दीक्षा भिंड से ससुराल आई है। उसने आते समय कहा था अभी ननद हैं तो उसे नहीं भेजें। उसके साथ घटना हो सकती है। दीक्षा के ससुर वीरेंद्र शर्मा वेटनरी कंपाउंडर हैं। जेठ रामू हाल में पुलिस में भर्ती हुए हैं, लेकिन ट्रेनिंग नहीं हुई है।

No comments:

Post a Comment

Pages