दुल्हन इंतजार करती रही, लेकिन नहीं आई बारात - .

Breaking

Saturday, 30 June 2018

दुल्हन इंतजार करती रही, लेकिन नहीं आई बारात

दुल्हन इंतजार करती रही, लेकिन नहीं आई बारात

पाली थाना अंतर्गत ग्राम बरहाई में दहेज की मांग पूरी न कर पाने पर उसके बेटी की मांग सिंदूर बिना अधूरी रह गयी। इस मामले में बताया जाता है कि स्थानीय कृष्ण पाल पिता वंश गोपाल सिंह मार्को उम्र 52 वर्ष ने बेटी का विवाह मानपुर थाना अंतर्गत ग्राम बड़ार निवासी गोविंद सिंह के पुत्र भानु प्रताप जो वन विभाग में पदस्थ है,उससे तय की थी, विवाह आयोजन में ओली,बरीक्षा एवम तिलक का कार्यक्रम 15 दिन पूर्व ही पूर्ण हो चुका था,जिसके बाद दोनों पक्षो ने 27 जून बुधवार को विवाह कार्यक्रम तय होने पर सहमति जताई थी।
परिवार सदमे में है :- सूत्र बताते है कि बुधवार की सुबह बराती पक्ष वालों ने बाकायदा ग्राम बरहाई आकर लड़की के पिता शिक्षक कृष्ण पाल पिता वंश गोपाल सिंह मार्को उम्र 52 वर्ष से दहेज के नाम पर बुलेट वाहन की मांग के साथ लाख रुपये की डिमांड की ।
यह सुनकर लड़की पक्ष वालों के होश उड़ गए और उन्होंने विनती करते हुए कहा कि आखरी दिन इतना सब कुछ कैसे हो पायेगा,साथ ही उन्होंने लड़के पक्ष वालों से इतना कुछ कर पाने में अपनी असमर्थता जताई,बताया जाता है कि इस बात से रुष्ठ होकर लड़के वाले घर से चले गये और रात को 10 बजे आने वाली बारात को कैंसिल कर दिया।इस घटना से समाज मे जहा पूरा परिवार शर्मसार हुवा है,वही शिक्षक पिता सहित पूरा परिवार घटना से आहत हुवा है,बताया जाता है की घटना के बाद से बेटी भी इस सदमे को भुला नही पा रही है,और उभर नही पा रही है।
पिता ने की शिकायत :- इस मामले पर पुलिस ने गम्भीरता बरती है, विवेचक शशि द्विवेदी ने बताया कि लड़की के शिक्षक पिता की शिकायत पर आरोपी वन कर्मी भानु प्रताप एवम पिता गोविंद सिंह के विरुद्ध अपराध क्र 251/18 दहेज प्रतिषेध अधिनियम 3/4 के तहत कार्यवाही की गई है,और पूरे मामले को जांच में लिया गया है। इस संवेदनशील मामले में एसपी डॉ असीत ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है,जांच उपरांत दोषी पक्ष पर विधिसंगत कार्यवाही की जायेगी।

No comments:

Post a Comment

Pages