25 सीटों पर सिर्फ 1 आवेदन, क्योंकि विक्रम की बजाय DAVV पसंद - .

Breaking

Sunday, 24 June 2018

25 सीटों पर सिर्फ 1 आवेदन, क्योंकि विक्रम की बजाय DAVV पसंद

25 सीटों पर सिर्फ 1 आवेदन, क्योंकि विक्रम की बजाय DAVV पसंद

मध्यप्रदेश की दूसरी सबसे पुरानी 'ए" ग्रेड विक्रम यूनिवर्सिटी को इस साल भी पढ़ाने के लिए विद्यार्थी नहीं मिले हैं। 25 सीटों वाले बीए ऑनर्स इन सोशोलॉजी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए सिर्फ 1 और एमएससी इन इनवायरमेंट मैनेजमेंट पाठ्यक्रम में सिर्फ 2 विद्यार्थियों के आवेदन की स्थिति यही बताती है। मालूम हो कि विक्रम विश्वविद्यालय की 29 अध्ययनशालाओं में प्रवेश के लिए पहला चरण अभी जारी है। स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख 23 जून को समाप्त हो चुकी है और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 30 जून समय सीमा है।
मगर अब तक जो फार्म जमा हुए, उसने विश्वविद्यालय प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। कारण सीटों के अनुपात में बेहद कम आवेदन जमा होना है। कुछ पाठ्यक्रम तो ऐसे हैं जिनमें इक्का-दुक्का आवेदन ही जमा हुए हैं। इसकी वजह डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. राकेश ढंड ने विद्यार्थियों का रुझान इंदौर की ओर बढ़ना बताया है।
नईदुनिया से कहा है कि उज्जैन के विद्यार्थी विक्रम यूनिवर्सिटी की बजाय इंदौर की देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी में पढ़ना अच्छा मान रहे हैं, इसकी कई वजह है, मगर स्थिति हमारे लिए चिंता का विषय है। उधर, देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी ने भी स्वीकारा है कि पिछले पांच सालों में हर साल उनकी 8 से 10 फीसद सीटें उज्जैन के विद्यार्थियों से भराती हैं।

No comments:

Post a Comment

Pages