मानसून में 20 लाख पौधों से संवारी जाएगी जंगल की तस्वीर - .

Breaking

Saturday, 9 June 2018

मानसून में 20 लाख पौधों से संवारी जाएगी जंगल की तस्वीर

मानसून में 20 लाख पौधों से संवारी जाएगी जंगल की तस्वीर

इस साल वन विभाग के सामने जंगल संवारने की चुनौती दोगुनी हो गई है। पिछले साल विभाग ने जिले में 10 लाख पौधे लगाए थे। इस बार 20 लाख का लक्ष्य है। पिछले बार वर्ल्ड रिकॉर्ड की चाह में एक दिन में पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन इस बार पौधारोपण 15 जुलाई से 15 अगस्त यानी पूरे एक माह चलेगा।पौधारोपण के लिए बड़गोंदा नर्सरी, खंडवा रोड स्थित अनुसंधान केंद्र, नवरतनबाग स्थित नर्सरी में बड़ी संख्या में पौधे तैयार किए गए हैं। इनमें नीम, सागौन, शीशम, सिरोज, करंज, पीपल, पारस, कठसाल, कटहल, मोर्सरी, खिरणी, बादाम, सीताफल, आम, अर्जुन, जामुन, बोर, करोंदे आदि के पौधे हैं।
संगठनों को देंगे ढाई लाख पौधे :- चोरल के जंगलों में ढाई लाख, मानपुर में ढाई लाख, इंदौर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 5 लाख पौधे लगाने की तैयारी है। रालामंडल के आसपास के क्षेत्र में दो लाख पौधे लगाए जाएंगे। ढाई लाख पौधे अलग-अलग सामाजिक, शैक्षणिक व अन्य संगठनों को दिए जाएंगे। रणभंवर पहाड़ी और माचल में 50 हजार और असरावद की पहाड़ी पर 40 हजार पौधे रोपे जाएंगे। मूसाखेडी का पूरा क्षेत्र, खंडवा रोड, वर्ल्ड कप चौराहे के आसपास भी पौधे रोपने की तैयारी है।
वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज नहीं हुआ नाम  :- पिछले साल वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए प्रदेशभर में एक दिन में 6 करोड़ पौधे रोपे गए थे। इंदौर जिले के लिए यह आंकड़ा 10 लाख था। विभाग की गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दावेदारी साल बीतने के बाद भी अधिकृत रूप नहीं ले पाई है। कुछ जल्दबाजी और कुछ मानसून की बेरुखी से 50 फीसदी से ज्यादा पौधे पेड़ नहीं बन पाए ।
तीन किसानों को मिलेगा फायदा  :- - इस बार बांस की खेती को बढ़ावा देने के लिए जिले के तीन ऐसे किसानों का चयन किया जाएगा जो अपनी एक हेक्टयर भूमि पर बांस की खेती करना चाहते हैं। इसमें आने वाले खर्च में 50 फीसदी सब्सिडी विभाग देगा। इसके जरिये जिलेभर के किसानों को बांस की खेती के फायदे बताए जाएंगे। पौधारोपण के लिए इस बार महीनेभर का समय तय किया गया है। जंगल के अलावा शहर में भी पौधे रोपने के लिए सामाजिक संस्थाओं को पौधे वितरित किए जाएंगे। 20 प्रजातियों के पौधे नर्सरियों में तैयार किए गए हैं, जिन्हें जून के आखिरी सप्ताह में प्लांटेशन साइट पर भेजेंगे।

No comments:

Post a Comment

Pages