कोरबा : बायोमेट्रिक हाजिरी में गड़बड़ी, 1700 कर्मियों का वेतन रुका - .

Breaking

Tuesday, 12 June 2018

कोरबा : बायोमेट्रिक हाजिरी में गड़बड़ी, 1700 कर्मियों का वेतन रुका

कोरबा : बायोमेट्रिक हाजिरी में गड़बड़ी, 1700 कर्मियों का वेतन रुका

 कुसमुंडा खदान में कार्यरत 1700 कर्मियों को वेतन भुगतान नहीं हो सका। जिन कर्मियों को वेतन मिला, उनमें भी व्यापक गडबड़ी है। बायोमेट्रिक हाजिरी के बाद स्थिति बिगड़ने से कर्मियों में नाराजगी व्याप्त है। प्रबंधन की इस कार्यप्रणाली का कर्मियों ने विरोध करते हुए कहा कि जल्द ही राशि भुगतान नहीं होती है, तो आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जाएगा। एसईसीएल की सभी खदानों में बायोमेट्रिक हाजिरी प्रणाली शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही कोल नेट के माध्यम से पूरी रिपोर्ट ली जा रही है। इसके बाद ही वेतन भुगतान किया जा रहा है। एसईसीएल कुसमुंडा प्रबंधन ने सूचना चस्पा कर वेतन भुगतान में विलंब होने की जानकारी कर्मियों को दी थी, पर कब तक वेतन भुगतान होगा, इसका खुलासा नहीं किया था। मंथली व डेली रेटेड दो प्रकार से कर्मियों को वेतन भुगतान किया जाता है। प्रत्येक माह की 24 तारीख तक हाजिरी लेने के बाद वेतन की गणना शुरू होती है और अगले माह की दो या तीन तारीख तक वेतन प्रदान कर दिया जाता है। कुसमुंडा के कर्मियों का कहना है कि इस माह डेली रेटेड आधार पर कार्यरत लगभग 1700 कर्मियों को सोमवार तक वेतन का भुगतान नहीं किया गया।
वहीं मंथली रेटेड के आधार पर कार्यरत कर्मियों को वेतन मिला, तो उसमें व्यापक गड़बड़ी पाई गई। प्रबंधन के समक्ष जब इस पर आपत्ति जताई गई तब प्रबंधन ने कहा कि डेली रेटेड कर्मियों को एक-दो दिन में भुगतान कर दिया जाएगा, जबकि मंथली रेटेड में गड़बड़ी पर कर्मियों के समक्ष एक रजिस्टर रख दिया है।
कर्मी उसमें अपनी शिकायत दर्ज कराएंगे, तब वेतन में सुधार कार्य किया जाएगा। प्रबंधन की इस कार्यप्रणाली से कर्मियों में नाराजगी व्याप्त है। उनका कहना है कि जल्द ही स्थिति दुरूस्त नहीं हुई तो आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जाएगा। बायोमेट्रिक हाजिरी प्रणाली लागू करने के साथ ही गड़बड़ी सामने आने लगी है।
अन्य भुगतान भी लटके :- कोलकर्मियों को मेडिकल बिल, अवकाश समेत अन्य मद की राशि भुगतान किया जाता है। बताया जा रहा है कि कोल नेट की वजह से इन मदों का भुगतान भी नहीं हो रहा है। नेट में सर्वर डाउन होते ही कर्मचारी हाथ खड़ा कर देते हैं और नेट दुरूस्त होने पर भुगतान की बात करते हैं। इससे कर्मियों को अनावश्यक कार्यालय का चक्कर काटना पड़ता है।
सीटू करेगा आंदोलन :- कर्मियों को वेतन नहीं मिलने पर सीटू ने आपत्ति जताते हुए कहा कि संघ प्रारंभ से ही बायोमेट्रिक का विरोध करते रहा है। महासचिव वीएम मनोहर ने कहा कि प्रबंधन अपनी मनमर्जी से कार्य कर रहा है। 15 जून तक कर्मियों को वेतन भुगतान के साथ ही गड़बड़ी दूर नहीं की जाती है, तो आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जाएगा। विलंब से वेतन भुगतान का नोटिस चस्पा किया, पर भुगतान होने की तिथि स्पष्ट नहीं की।

No comments:

Post a Comment

Pages